Menu
blogid : 314 postid : 1389215

सभी गांवों में सबके पास होगा जन धन खाता, 14 अप्रैल से चलेगा विशेष अभियान

जिन गांवों में बैंक की पहुंच नहीं है या जिन गरीबों का बैंक में खाता नहीं खुल पाया है, अगले 20 दिनों में उनके भी जन धन खाते खुल जाएंगे। इसके लिए सरकार आगामी 14 अप्रैल से पांच मई तक ग्राम स्वराज्य अभियान चलाने जा रही है, जिस दौरान देश के सभी गांवों में लोगों के बैंक खाते खोले जाएंगे। इस दौरान, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री जन सुरक्षा योजना के तहत भी अधिक से अधिक व्यक्तियों को शामिल करने की कोशिश की जाएगी।

 

 

21,000 गांवों में खाते खोले जाने बाकी हैं

केंद्रीय वित्त मंत्रालय में बैंकिंग सचिव राजीव कुमार ने कहा कि अभी तक देश के करीब 16,000 गांवों में प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 31.44 करोड़ बैंक खाते खोले जा चुके हैं, हालांकि कुल 21,000 गांवों में ये खाते खोले जाने बाकी हैं। अभी भी कुछ गांव बचे हैं, जहां तक बैंक खातों की पहुंच नहीं हो पाई है। अब 14 अप्रैल 2018 से पांच मई 2018 तक इन 21,000 गांवों में ग्राम स्वराज्य अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें सभी का बैंक खाता खोलने के लिए बैंक विशेष शिविर लगाए जाएंगे।

   

 

बीमा का भी मिलेगा कवच           

राजीव कुमार ने बताया कि सभी को बीमा का कवच उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा योजना शुरू की गई है, जिसमें क्रमश: 330 रुपये और 12 रुपये के वार्षिक प्रीमियम पर दो लाख रुपये का बीमा कवर उपलब्ध कराया जाता है। इसे जागरूकता का अभाव कहें कि अभी तक जीवन ज्योति बीमा योजना में महज 5.33 करोड़ व्यक्ति ही जुड़ पाए हैं। इनकी संख्या बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। इसके साथ ही सुरक्षा योजना, जिससे अभी तक 13.49 करोड़ लोग जुड़े हैं, से भी अधिक से अधिक व्यक्तियों को जोड़ने की कोशिश की जाएगी।

        

 

उज्ज्वला योजना में मिलेंगे गैस के कनेक्शन 

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस सचिव कपिलदेव त्रिपाठी ने बताया कि इस अभियान के दौरान सभी गांव की पात्र महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत नि:शुल्क गैस कनेक्शन भी उपलब्ध कराया जाएगा। उनके मुताबिक, सरकार का लक्ष्य गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर कर रहे सभी परिवार की महिलाओं के पास गैस कनेक्शन पहुंचाना है, ताकि उन्हें खाना बनाने के लिए लकड़ी या किसी अन्य स्रोत पर निर्भर नहीं रहना पड़े।

           

 

अति पिछड़े जिलों में खुलेंगे बैंक       

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने यहां बताया कि विकास के मानक में पीछे चल रहे 115 जिलों का चयन किया जा चुका है। इनमें वैसे जिले भी शामिल हैं, जहां अभी तक पर्याप्त बैंकिंग सुविधाएं नहीं हैं। अब उसी हिसाब से काम हो रहा है और आगामी 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री छत्तीसगढ़ के बीजापुर से इन जिलों के कायाकल्प की शुरुआत करेंगे। बीजापुर में 18 डाकघर और 33 बैंक खोलने की तैयारी है। इसके लिए जगह का भी चयन हो चुका है और कहां-कहां किस बैंक की शाखा खुलेंगी, यह भी तय किया जा चुका है।Next

 

 

Read More:

राजधानी में गाड़ी चलाना होगा महंगा! जानें क्‍या है वजह

हर महीने पोस्ट ऑफिस देगा आपको पैसे, करना होगा ये काम

1 अप्रैल से ट्रेन में सफर करना होगा सस्ता, इन चीजों के भी घटेंगे दाम!

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *