Menu
blogid : 28034 postid : 28

पीली या सुनहरी गोह

maaty.org

maaty.org

  • 4 Posts
  • 0 Comment

मॉनिटर लिजर्ड / गोह / गोयरा / गोलू Varanidae family के अंतर्गत आने वाली एक प्रकार की छिपकली है। इस परिवार में लगभग 79 प्रजातियों की पहचान की गयी है, जोकि पूरे अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण पूर्व एशिया में पायी जाती हैं। मॉनिटर लिजर्ड लगभग सभी प्रकार की जलवायु अर्थात विषम से विषम परिस्थितियों में भी पायी जाती है, जिनमें रेगिस्तानी क्षेत्रों से लेकर बाढ़ के मैदानों, झाड़ियों से लेकर जंगलों तक और कृषि क्षेत्रों में भी पायी जाती हैं।

भारत में वर्तमान में गोह की चार प्रजातियां मौजूद हैं। बंगाल मॉनिटर (Bengal Monitor or Varanus bengalensis), डेजर्ट मॉनिटर (Desert Monitor or Varanus griseus), येलो मॉनिटर (Yellow Monitor or Varanus flavescens) और वाटर मॉनिटर (Water Monitor or Varanus salvator)। सभी चार भारतीय मॉनिटर छिपकलियों को भारतीय वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम 1972 की अनुसूची- । में सूचीबद्ध किया गया है।

भारत में पायी जाने वाली चारों प्रजातियों में से येलो मॉनिटर (Yellow Monitor Lizard or Varaanus flavescens) जो एक दुर्लभ प्रजाति है मध्यम आकार की मॉनिटर की प्रजाति है जिसका रंग सुनहरा या पीला, लम्बाई लगभग 900 मिमी और वजन लगभग 1400 ग्राम तक होता है। यह प्रजाति अक्सर नमी वाले स्थान जैसे नदी नहर के किनारे गीले क्षेत्रों को पसंद करती है, जो जंगल के किनारे और मानव बस्तियों के पास पाए जाते हैं। यह एक मांसाहारी छिपकली है, और अपने छोटे पैर की उंगलियों के कारण पेड़ों पर चढ़ने के लिए कम अनुकूलित है।

यह प्रजाति भारत, पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश में सिंधु, गंगा और ब्रह्मपुत्र नदियों के बाढ़ के मैदान में पायी जाती है। इसका प्राकृतवास सीमित होने के कारण इस प्रजाति के विषय में बहुत ही कम जानकारी उपलब्ध है। इसका बहुत कम अध्ययन किया गया है। इसके वितरण, जनसंख्या की स्थिति, प्रवृत्ति, पारिस्थितिकी और खतरों के लिए अनुसंधान अत्यावश्यक है।

 

डिस्क्लेमर: उपरोक्त विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी हैं। जागरण डॉट कॉम किसी भी दावे, तथ्य या आंकड़े की पुष्टि नहीं करता है।

Read Comments

Post a comment