Menu
blogid : 313 postid : 2897

बस तारीफ सुनकर ही फिदा हो जाती हैं महिलाएं !!

women like complementsमहिलाओं के विषय में अकसर ऐसा माना जाता है कि उनका मूड सिर्फ महंगे तोहफों से ही ठीक होता है. बहुत से लोग रूठी गर्लफ्रेंड या पत्नी को मनाना हो तो उन्हें शॉपिंग पर ले जाते हैं, क्योंकि उन्हें उम्मीद होती है कि शायद बहुत सारा खर्चा करने के बाद उनका मूड ठीक हो जाए. लेकिन अब यह सभी तरीके बीते जमाने की बात हो गए हैं क्योंकि अब महिलाएं तोहफों पर नहीं कॉंप्लीमेंट्स पर फिदा होती हैं.



नए शोध के अनुसार अगर गर्लफ्रेंड या पत्नी का मूड ठीक करना हो तो उनकी जरा सी तारीफ भी बेहद काम की सिद्ध हो सकती है. स्पार्कल ऑन कैंपेन के अंतर्गत हुई एक रिसर्च में यह स्थापित हुआ है कि महिलाओं की खुशियां महंगे तोहफों पर नहीं बल्कि छोटे लेकिन बेहद भावुक पलों पर आधारित होती हैं. अगर उन्हें अपने साथी के साथ कुछ अच्छे पल व्यतीत करने को मिलें तो उनका गुस्सा बहुत जल्द गायब हो सकता है.


25 से 45 साल के बीच आयु वर्ग वाली ब्रिटिश महिलाओं पर आधारित इस सर्वे के द्वारा पहले से चली आ रही उन भ्रांतियों को दूर किया गया है जिनके अनुसार महिलाओं का मूड शॉपिंग पर जाकर ही ठीक हो सकता है. इसके अलावा रोमांटिक और सुहाना मौसम भी उनके मूड को बूस्ट करने में बेहद सहायक सिद्ध होता है.


सर्वे में शामिल 1,056 महिलाओं में से करीब 64% का कहना है कि मौसम बढ़िया हो तो उनका मूड भी बहुत अच्छा हो जाता है वहीं 41% यह स्वीकार करती हैं कि पार्टनर का प्रेम भरा कॉंप्लीमेंट या एक रोमांटिक सा टेक्स्ट मैसेज उनका मूड तरोताजा कर देता है.


कैसे पुरुषों पर मरती हैं महिलाएं



उपरोक्त अध्ययन को अगर हम भारतीय परिदृश्य के अनुसार देखें तो यहां भी प्यार में छोटी-मोटी तकरार होना आम बात है. प्राय: प्रेमी जोड़ों के बीच चलने वाला मनमुटाव भी अब एक सामान्य रूप ले चुका है. लेकिन यह भी एक सच है कि जितनी जल्दी यह मतभेद पैदा होते हैं उससे भी जल्दी इन्हें सुलझा लिया जाता है. कुछ महिलाएं अपनी तारीफ सुनकर खुश हो जाती हैं तो कुछ प्रेमी की बातों में आकर अपना सारा गुस्सा भूल जाती हैं.


यह बात सर्वमान्य है कि महिलाओं को तोहफे पसंद होते हैं, इसीलिए प्रेमिका या पत्नी को मनाने के लिए अगर इनका सहारा लिया जाता है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं होगा. प्रत्येक महिला अपने साथी से पूर्ण समर्पण और प्रेम जैसी बहूमूल्य चीजों की ही अपेक्षा करती है. स्वभाव और प्राथमिकताओं में वैयक्तिक अंतर होने के कारण रूठी महिला को मनाने का तरीका जरूर भिन्न हो सकता है लेकिन उन सभी का उद्देश्य अपने साथी का ध्यान अपनी ओर खींचना ही होता है.


उनके दिल में रहना है तो ……!!!


Read Hindi News


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *