Menu
blogid : 313 postid : 3002

Why Women Wear Spectacles

टी.वी. और वीडियो गेम्स से बढ़ती नजदीकी के कारण आज कम उम्र में ही बच्चों को चश्मा लग जाता है. कम उम्र में दृष्टि कमजोर हो जाने के कारण उन्हें ज्यादातर समय बड़े-बड़े चश्मों के साथ ही गुजारना पड़ता है. हालांकि आजकल स्टाइलिश चश्मों की भी कोई कमी नहीं है लेकिन उन्हें भी जब बाध्य होकर पहनना पड़ता है तो मुश्किल तो होती ही है.


यूं तो लड़कियों की अपेक्षा लड़के वीडियो गेम्स में ज्यादा दिलचस्पी लेते हैं और अपना अधिकांश समय कंप्यूटर पर बिताते हैं लेकिन हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के अनुसार लड़कियों को कहीं जल्दी चश्मा लग जाता है.


यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिर्फोनिया द्वारा संपन्न एक अध्ययन पर आधारित इस रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं को चश्मा लगने का कारण उनकी अपनी आदतें ही होती हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि बहुत सी महिलाओं को किताबें पढ़ने का शौक होता है और वह यही किताबें इतना अधिक नजदीक रखकर पढ़ती हैं कि इससे उनकी दृष्टि पर दबाव पड़ता है. जिसके परिणामस्वरूप उनकी आंखें कमजोर हो जाती हैं और उन्हें चश्मा पहनना पड़ता है. वहीं दूसरी ओर महिलाओं को अपेक्षाकृत जल्दी चश्मा लगने का एक कारण यह भी है कि उनके हाथ पुरुषों की तुलना में छोटे होते हैं, जिस कारण उन्हें किताब या फिर अन्य सामग्रियां नजदीक रखकर पढ़नी  होती हैं.


इन्वेस्टिगेटिव ऑप्थेमोलॉजी एंड विजुअल साइंस में प्रकाशित इस रिपोर्ट के अनुसार वैज्ञानिकों ने उम्र और दृष्टि में निकट संबंध का अध्ययन किया है, जो निश्चित तौर पर महिलाओं के लिए बहुत अधिक लाभकारी है.


उपरोक्त अध्ययन को भारतीय परिदृश्य के अनुसार देखें तो किताबें पढ़ने के साथ-साथ आज युवतियां कंप्यूटर और वीडियो गेम्स में भी समान दिलचस्पी ले रही हैं. वहीं युवक भी अब लीक से हटकर किताबें पढ़ते देखे जा सकते हैं. इसीलिए यह कहना सही नहीं होगा कि किताब पढ़ने के कारण ही महिलाओं की दृष्टि कमजोर होती है. कभी-कभार पारिवारिक हालात और अनुवांशिकता के कारण भी कम उम्र में ही बच्चों को चश्मा पहनने की जरूरत पड़ जाती है. इसीलिए इस बात को सार्वजनिक रूप से स्वीकार्यता प्रदान करना थोड़ा मुश्किल ही है.


why women wears spectacles, reading and watching television can b harmful for eyes, be careful if you are addicted to read books.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *