Menu
blogid : 313 postid : 1428

भारत में टैटू-विज्ञान का बढ़ता प्रचलन

tattoo art in Indiaविदेशों की देखा-देखी भारत में भी फैशन के क्षेत्र में कई तरह के बदलाव देखे जा सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप सीधे-साधे लोग भी आकर्षक और लोकप्रिय बनने की चाह में अजीबोगरीब कपड़े पहनने और अजीब सी हेयरस्टाइल रखना शुरू कर चुके हैं. युवाओं की बात की जाए तो स्टाइलिश दिखने की चाह उन्हें ना जाने किन-किन प्रयोगों को अपनाने के लिए विवश कर देती है. आमतौर पर यह देखा जाता है कि फैशन के प्रति लगाव रखने की प्रवृत्ति लड़कियों में अधिक होती है.



हर दौर में नया फैशन और नया ट्रेंड: आजकल युवाओं खासतौर पर लडकियों को बॉडी टैटूज बनवाना बहुत ट्रेंडी लगने लगा है. हालांकि बॉडी टैटू का फैशन आए काफी समय हो चुका है लेकिन अभी भी जब बॉडी टैटू बनवाना होता है तो लोग सोच में पड़ जाते हैं कि कौन सा और कैसा टैटू बनवाया जाए जो उन पर अच्छा भी लगे साथ ही उनके व्यक्तित्व को भी निखारे. अब उनकी इस समस्या का समाधान करने के लिए भी एक टैटू-विज्ञान आ गया है, जो उन्हें यह बता सकता है कि कौन सा टैटू उन्हें, साहस, आकर्षण और स्फूर्ति दे सकता है. अगर आप भी टैटू बनवाना चाह रहे हैं लेकिन विचार नहीं कर पा रहे कि क्या नया बनवाया जाए, जो अच्छा लगने के साथ आप पर आकर्षक भी लगे तो टैटू-विज्ञान के तहत निम्नलिखित टैटू के प्रकार और उनके आपके व्यक्तित्व पर पड़ने वाले प्रभाव को जानें:


एंजलः इस टैटू का चलन हॉलीवुड अभिनेत्री एंजेलिना जॉली द्वारा शुरू किया गया था जिसका अर्थ होता है – फरिश्ता. अधिकतर लड़कियां यह टैटू इसलिए बनवाती हैं ताकि वे हमेशा सुरक्षित रहें. क्योंकि टैटू आर्ट में ऐसा माना जाता है कि एंजल टैटू आपकी सुरक्षा करता है (अगर आप इस कथन से इत्तेफाक रखते हैं तो इसे जरूर बनवाएं). अगर आपकी उम्र 20 से 24 साल के बीच है तो आप कलरफुल एंजल बनावाएं. यदि इससे ज्यादा उम्र है तो डार्क एंजल बनवाएं.


लैटर/न्यूमैरिकः अगर आपको एंजल या इस तरह के डिजाइंस पसंद नहीं हैं तो आप लैटर और नंबर पर भी हाथ आजमा सकते हैं. इसके लिए आपके पास कई भाषाएं उपलब्ध हैं, जैसे- ग्रीक, हिब्रू, चीनी, फ्रेंच इत्यादि. वैसे आजकल चीनी भाषा में प्रार्थना लिखवाने का ट्रेंड भी जोरों पर है. इसके अलावा वहीं  कई ऐसी लड़कियां हैं जो अपना नाम इन भाषाओं में लिखवाना पसंद करती हैं.


बटरफ्लाईः टैटू विज्ञान में खुले विचारों और महत्वाकांक्षाओं के व्यक्तित्व को दर्शाता है बटरफ्लाई टैटू. जैसे तितलियां बिना रोक-टोक कहीं भी घूमती हैं, उसी प्रकार इस टैटू को बनवाने वाली लड़कियां भी जीवन में उन्मुक्त होकर रहना पसंद करती हैं. बटरफ्लाई टैटू में हमेशा ब्राइट यानी चमकीले रंग भरवाएं.


फ्लावरः अगर आपको रंगों से प्यार है तो आपके लिए फ्लॉवर टैटू एक अच्छा विकल्प है. इसे कंधे और कलाई पर बनवाएं. ऐसे टैटू ज्यादा आत्मविश्वासी और आकर्षक व्यक्तित्व के प्रतीक माने जाते हैं. साथ ही यह हर वर्ग के लोगों पर अच्छे लगते हैं. टैटू आर्ट में माना जाता है कि फ्लॉवर टैटू बनवाने वाली महिलाएं रोमांटिक स्वभाव की होती हैं.


ईवलः जो लोग स्वयं को निर्भय और साहसी दिखाना चाहते हैं उन्हें ईवल टैटू ट्राय करना चाहिए. यह टैटू व्यक्तित्व को और मजबूत बनाने के साथ आपको डिफरेंट और बोल्ड भी बना सकता है.


जोडिऐकः अगर आप किस्मत में ज्यादा विश्वास करते हैं तो जोडिऐक यानी अपनी राशि अनुसार टैटू गुदवाएं. यह लगभग सभी आयु-वर्ग के लोगों के लिए उपयुक्त रहते हैं. साथ ही ऐसे टैटू कभी आउट ऑफ फैशन नहीं होते. टैटू-विज्ञान के अनुसार अगर आप अपनी राशि के अनुसार टैटू बनवाते हैं तो इससे आपका भाग्योदय होता है.


सेल्टिकः सामान्य भाषा में इन्हें ट्राइबल अर्थात आदिवासी टैटूज कहा जाता है. ये टैटू 25 से लेकर 30 साल तक की महिलाओं के लिए सबसे उपयुक्त होते हैं. ये जितने खूबसूरत भारतीय परिधान के साथ लगते हैं, उतने ही खूबसूरत इंडो-वेस्टर्न आउटफिट के साथ भी लगते हैं.


रोचकः अगर आप एक अलग किस्म के टैटू की खोज में हैं तो आप रोचक या गैर परंपरागत टैटू बनवा सकते हैं. जैसे ओम के आकार में बना बरगद का पेड़ या फिर सभी धर्मों के चिन्हों से मिलकर बना एक चिन्ह या फिर 9 ग्रहों के बीच चमकते सूरज का टैटू.


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *