Menu
blogid : 313 postid : 3259

कभी दोस्ती के बीच “एक्स” ना आए…

स्ट्रीटलाइट की तरह कदम-कदम पर रोशनी बिखेरते हैं दोस्त. खुद भले ही पीछे छूट जाएं, पर दोस्त की जिंदगी के सफर को आसान बना देते हैं दोस्त.


Friendship Tip and Rules

दोस्ती एक ऐसा अहसास और रिश्ता है जो इंसान को जिंदगी की अकेली राहों में भी एक सहारा प्रदान करता है. हर इंसान की जिंदगी में दोस्ती का एक अहम महत्व होता है. किसी के लिए दोस्ती जीने की वजह होती है तो किसी के लिए दोस्ती सिर्फ मौज-मस्ती कराने का काम करती है.

Read: WHAT IS TRUE FRIENDSHIP


FRIENDSHIPTrue Friend is?????

दोस्ती की परिभाषा को कोई भी सही ढंग से परिभाषित नहीं कर सकता लेकिन फिर भी कहा जाता है कि दोस्त तब आता है, जब सारी दुनिया जा चुकी होती है. शायद सही ही है. दोस्त तब काम आते हैं जब सारी दुनिया साथ छोड़ देती है और जो दोस्त मुसीबत में काम ना आए वह दोस्त दोस्त ही नहीं होता.


एक कहावत है कि आप बात तो सबकी सुनते हैं, लेकिन आपकी बात जो सुनता है वही दोस्त होता है. सच्चे दोस्त वह होते हैं, जो बिना कुछ कहे ही आपकी बात समझ जाते हैं.

Read: Friendship Day Sms


दोस्ती का आकाश बहुत विस्तृत होता है, जहां हम अवारा बेलगाम बादलों की तरह मस्ती कर सकते हैं. यूं तो दोस्ती में कोई रूल और नियम नहीं होता लेकिन फिर भी कुछ ऐसी बातें हैं जो दोस्ती के रिश्ते को मजबूती से बांधे रखने के लिए जरूरी होती हैं. तो चलिए आज कुछ ऐसी ही बातों की तरफ ध्यान दें जो दोस्ती के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए अहम हैं:


Important Tips and Rules of Friendship

  • दोस्त की एक्स से दूरी: दोस्त की प्रेमिका या पूर्व प्रेमिका से नजदीकी आपकी दोस्ती को खतरें में डाल सकती है. यह एक ऐसी वजह बन सकती है जो आपके दोस्त के मन में आपके लिए जिंदगी भर का जहर घोल देगी. दोस्त की गर्लफ्रेंड या एक्स के साथ आपकी नजदीकियां आपकी दोस्ती को बुरी तरह प्रभावित कर सकती हैं. इसलिए जितना हो सके दोस्त की गर्लफ्रेंड और एक्स से दूरी बनाए रखें.
  • ऐसे दोस्तों से रहें दूर: अकसर हम सोचते हैं कि जो दोस्त हमारे साथ हंसी-मजाक करते हैं वह अच्छे दोस्त होते हैं लेकिन यह सच नहीं है. जो दोस्त आपका मजाक उड़ाएं और आपके बारे में अफवाहें फैलाएं वह कतई आपके दोस्त नहीं हो सकते.और हां, आप भी याद रखिए कि अपने दोस्तों के बारे में गॉसिप कभी न करें. अगर अपने किसी फ्रेंड के बारे में आपने कुछ सुना है तो उससे पर्सनली इस बारे में बात करें.
  • खुद को ना भूलें: अकसर हम जब ग्रुप में दोस्त बनाते हैं तो अपने आप को भूल जाते हैं जो बहुत गलत है. अपने ग्रुप में मशहूर होने के लिए हम अपने सिद्धांतों को भी दांव पर लगा देते हैं जो गलत है. ऐसा कभी ना करें, खुद के प्रति ईमानदारी बरतें.
  • दोस्त का साथ दे: सच्चा दोस्त वही होता है जो मुसीबत में काम आए. किसी प्रॉब्लम में पड़ने पर अपने दोस्त की मदद  करें. अगर उसने कोई छोटी-मोटी गलती की है तो अपने स्तर पर आप उसे बचाने का प्रयास कर सकते हैं लेकिन हां, उसकी गलती उसे अकेले में जरूर बताएं. पर सबके सामने उसकी सेल्फ-रिस्पेक्ट का ध्यान रखें.
  • थोड़ी सुझबुझ है जरूरी: अकसर दोस्ती टूटने की एक आम वजह किसी दोस्त का समय पर मदद ना देना भी होता है. हमें लगता है कि जब हमें जरूरत थी तब तो इस दोस्त ने हमारी मदद की नहीं तो इसे दोस्त क्यूं मानूं. लेकिन हो सकता है उस स्थिति में आपके दोस्त की भी कुछ समस्याएं रही हों. इसलिए जरूरी है कि आप अपना धैर्य बनाए रखें और हालातों को सही ढंग से समझें.


दोस्ती, एक अनमोल रिश्ता है. एक ऐसा रिश्ता जो सहज ही बन जाता है. न तो इस रिश्ते में कोई अपेक्षा होती है और न कोई शर्त. लेकिन फिर भी हमें सही और सच्चे दोस्तों की सही पहचान होनी चाहिए. अगले अंक में हम शादी-शुदा जिंदगी और दोस्ती के रिश्ते को समझेंगे.


Read: Best Friends in Bollywood


Post Your Comments on: आपकी जिंदगी में दोस्ती के क्या मायने होते हैं?

Tag: Rules of Friendship, Golden Rules Of Friendship, Friendship Rules in Hindi, Hindi, Dosti SMS, Dosti message, Shayari on dosti, Who is a True Friend, how to be a good friend

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *