Menu
blogid : 313 postid : 150

[Internet Chatting] चैटिंग- नए जमाने का कबूतर काम का या निकम्मा


चैटिंग को अगर नए जमाने का कबूतर कहा जाए तो गलत न होगा. इंटरनेट के आने से ऐसी कई विधियां आई हैं जिसने दूरियों को ना के बराबर कर दिया है. इसी की देन है चैटिंग.

chatting1इंटरनेट चैट एक ऐसा तरीका है जिसके द्वारा आप लोगों से सीधी बात कर सकते हैं, पाठ संदेश तुरंत दूसरी तरफ ऑनलाइन व्यक्ति के द्वारा देखा जा सकता है एवं ऑनलाइन चैट “रूम” प्रयोग करने वाले सम्पर्क सूची द्वारा भेजे गए संदेश भी देखे जा सकते हैं. यह एक मित्रवत गतिविधि है और बहुत लोकप्रिय है.

इस सेवा का प्रयोग अधिकतर युवा पीढ़ी द्वारा किया जाता है जिसे वह अपने दोस्तों के साथ बात करने के लिए एवं मिलने के लिए व सम्बन्ध स्थापित करने के लिए प्रयोग करते हैं.

ET computer kid happy surprised2चैटिंग के फायदे

यह कबूतर बडे काम का है. अगर आप अकेले हैं और आसपास दोस्त नहीं हैं तो ऐसे समय में यह आपकी मदद करता है और आपको दोस्तों से जोड़ता है. साथ ही आप अगर दिल्ली में रहते हैं और दोस्त बनाना चाहते हैं दूर देश में, तब भी यह आपकी मदद करता है. चैटिंग का फायदा उनको सबसे ज्यादा होता है जिनका काम अलग अलग राज्यों या देशों में होता है.

चैटिंग के और भी कई फायदे हैं. लेकिन कहते हैं कि जब भी किसी चीज की अति होती है तो उसका परिणाम बुरा ही होता है ऐसा ही कुछ चैटिंग से साथ भी है. आज चैटिंग का उपयोग लोग बाजारीकरण के तरीके से कर रहे है. छोटे-छोटे बच्चों से लेकर बड़े तक इसके आदी बनते जा रहे हैं. अब यह एक नशे की तरह होने लगा है जो जिसे लग जाता है वह इसके बिना बैचेनी महसूस करने लगता है.

लेकिन ऐसा नहीं है कि चैटिंग आपकी आदत बिगाड़ देता है. यह ऐसा तब तक नहीं करता जब तक आपको इसकी आदत न लग जाए. इसके साथ ही कुछ बातों का ध्यान रखकर आप चैटिंग का मजा भी ले सकते हैं और साथ ही उसके आदी भी नहीं बनेंगे.

computer_chatting_3231.  समय निर्धारित कर लें : अक्सर सही यही होता है कि आप एक विशेष समय निर्धारित कर लें कि आपको कब चैटिंग करनी है. फिर उसी समय के अनुसार आप चैटिंग करें न ही उससे ज्यादा और न ही कम. और हां इस समय का सख्ती से पालन करें, ताकि अगर इसकी आदत हो जाए तो आपको समय रहते पता चल जाए.

2.  ज्यादा दोस्ताना नहीं : अक्सर सामने जब कोई लड़की होती है तो लड़के उसे अपने बारे में सब बता देते हैं और उससे दिल भी लगा लेते हैं. नतीजन चैटिंग के बिना आपको अधूरा-अधूरा सा लगता है. क्योंकि असल में आप चैटिंग की जगह दिल गंवा बैठे होते है और वह भी ऐसी जगह जहां आपको सफलता मिले इसकी गुजांइश कम ही होती है.

3.  एक अलग दुनिया में रहें : जब आप चैटिंग करें तो ख्याल रखें कि सामने वाला आपको जानता नहीं है और न ही मिलने वाला है तो जितना हो सके अपनी असल जिंदगी को इस कंप्यूटर लाइफ से अलग रखिए.

6a00d83451bb3569e200e54f6b01cc8833-800wi4.  गलत और वयस्क चैटिंग से बचें : अक्सर यह देखा जाता है कि वयस्क और चटपटी बातें करने के बहाने कई कम्पनियां आपसे धन उगाहने और आपकी निजी जानकारियां प्राप्त करने करने का काम करती हैं.

5.  ज्यादा नाम कॉंटैक्ट में मत बढाइए : इंटरनेट चैटिंग के जरिए आप अपना कॉंटैक्ट काफी बढ़ा सकते हैं, लेकिन बेहतर होगा कि चैट उन्हीं लोगों से करें, जिन्हें आप जानते हैं. शुरु में आप अनजान लोगों से चैट कर लें लेकिन कुछ समय बाद भांप लें कि कौन सही है और कौन नहीं.

6.  काम के समय चैटिंग नहीं : काम के साथ चैटिंग करने से आपकी कार्यक्षमता कम होती है यह गलत नहीं है. सोशल नेटवर्किंग सही है. लेकिन कार्यस्थल या दफ्तर में इसका प्रयोग सिर्फ काम के लिए होना चाहिए.

7.  तस्वीर कभी ना डालें : चैटिंग के दौरान कोई आपसे आपकी पिक्चर मांग सकता है, ऐसे में आप साफ इंकार कर दे, यही सबसे सही तरीका है वरना ऐसा न हो कि आपको बाद में पछताना पड़े. आपके बारे में दी गई जानकारी का कोई गलत इस्तेमाल भी कर सकता है.

तो आगे से चैटिंग करें और मजे से करें, बस चंद छोटी बातों का ध्यान रखें. ताकि आप सुरक्षित रहें. चैटिंग विज्ञान की महत्वपूर्ण खोज है इसका इस्तेमाल सही दिशा में करना हमारे हाथ मे है.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *