Menu
blogid : 313 postid : 1478

मुस्कान बनाए बिगड़े काम !!

smileऐसा माना जाता है कि चेहरे पर मुस्कुराहट लिए अगर किसी काम की शुरुआत की जाए तो उसमें सफलता जरूर मिलती है. इतना ही नहीं खुशमिजाज चेहरों को सभी लोग पसंद करते हैं.

अगर आप इस कथन को महज एक मिथक मानते हैं तो हाल ही में विभिन्न यूनिवर्सिटियों द्वारा कराए गए शोध आपकी इस भ्रांति को तो दूर कर ही सकते हैं, साथ ही यह भी साबित कर सकते हैं कि आपकी मुस्कान जहां दूसरे लोगों पर सकारात्मक प्रभाव डालती है, वहीं वह आपके स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अधिक उपयोगी होती है.


कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए इस सर्वेक्षण ने यह प्रमाणित कर दिया है कि आपकी मुस्कुराहट सिर्फ आपके दिल को ही संतुष्टि नहीं देती बल्कि आपके सेहत से भी इसका गहरा संबंध होता है. मुख्य शोधकर्ता जॉन डाल्टन का यह शोध कहता है कि मुस्कुराने से चेहरे से लेकर गर्दन तक की मांसपेशियों का व्यायाम हो जाता है. परिणामस्वरूप आपके चेहरे पर झुर्रियां पड़ने की संभावना अपेक्षाकृत कम हो जाने के कारण चेहरे की कांति और रौनक बनी रहती है.


स्वास्थ्य से परे आपकी दैनिक जीवन शैली में भी आपकी छोटी सी मुस्कान के बड़े फायदे हैं. बोस्टन यूनिवर्सिटी द्वारा कराए गए एक अन्य शोध के नतीजे यह प्रमाणित करते हैं कि आपकी मुस्कान दूसरों पर बहुत गहरा प्रभाव डालती है. किसी से कोई काम करवाना हो या अपनी बात मनवानी हो, मुस्कुराकर आग्रह करने पर उसके पूरे होने की संभावनाएं 50% तक बढ़ जाती हैं. 10,000 लोगों पर किए गए इस शोध में लगभग 85% लोगों ने माना है कि उनके जीवन में कई ऐसे अवसर आए हैं जब मुस्कुराकर अपनी बात कहने पर उनके बिगड़ते काम भी बन गए. हां, कुछ लोगों ने जरूर इस बात से इनकार किया है कि मुस्कुराने भर से कोई काम सफलतापूर्वक निपटाया जा सकता है.


इतना ही नहीं, इस शोध में शामिल लोगों से यह भी पूछा गया कि अगर कोई उनसे मुस्कुराते हुए किसी काम के लिए कहे तो वह उसके प्रति कैसी प्रतिक्रिया देंगे?  इसके जवाब में लगभग 75 प्रतिशत लोगों ने कहा कि अगर उन्होंने पूर्व निर्धारित किया है कि वो यह काम नहीं करेंगे, तो वह अपने इस निर्णय पर दोबार विचार कर सकते हैं. वहीं 65 प्रतिशत लोगों ने यह स्पष्ट तौर पर माना कि वह उस काम को कर देंगे.


नतीजों की मानें तो, इसका मतलब यह हुआ कि अगर किसी को मुस्कुराकर कोई काम करने के लिए कहा जाए तो उसके होने की संभावना 65% तक बढ़ जाती है.

लाखों खर्च करती हैं महिलाएं अपने मेक-अप पर!!

भारतीय मनोविश्लेषक वंदना प्रकाश का मानना है कि जब आप सुबह मुस्कुराते हुए अपने काम की शुरुआत करते हैं तो काम में आपका मन लगता है और जिसके कारण आप उसे उत्साहित और आत्म-विश्वास के साथ जल्दी समाप्त कर लेते हैं. इसके अलावा कार्यालय के साथियों पर भी आपकी मुस्कुराहट का अच्छा प्रभाव पड़ता है.


अगर आपको यह लगता है कि मुस्कुराहट के केवल यही दो फायदे हैं और यह सिर्फ आपके व्यावसायिक क्षेत्र में ही काम आ सकती है, तो आपको एक बार फिर सोचने की जरूरत है. वंदना प्रकाश ने इस तथ्य को स्वीकार किया है कि आपकी मुस्कुराहट व्यक्तिगत जीवन में भी अत्याधिक लाभकारी सिद्ध हो सकती है. विशेषकर अगर आप किसी से पहली बार मिल रहे हैं तो चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट लिए अपना परिचय देने के साथ बातचीत की शुरूआत करना, माहौल को हल्का बना देता है और आपस में खुल कर बातचीत करने का एक अच्छा मौका देता है.


उपरोक्त से यह स्पष्ट हो जाता है कि व्यक्तित्व को प्रभावी बनाने और निखारने में आपके चेहरे की मुस्कान का कितना बड़ा योगदान होता है. लेकिन हर वक्त मुस्कुराते रहना भी आपकी छवि को नकारात्मक बना सकता है. अगर आप ऑफिस या घर में किसी गंभीर विषय पर बात कर रहे हैं या किसी के गम में शरीक होने गए हैं, तो ऐसे में आपकी मुस्कान विपरीत असर डालती है. इसीलिए मुस्कुराएं लेकिन माहौल को ध्यान में रखकर.

फिजूल की गपशप करने में पुरुष भी कुछ कम नहीं !!

आसान नहीं है किसी पुरुष को समझना !!

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *