Menu
blogid : 313 postid : 1589

कैसे पहचानें अपने मिस्टर परफेक्ट को ?

mr.perfectकॉलेज में पढ़ने वाली रुचि अपने सहपाठी मोहित, जो कि उसका बहुत अच्छा दोस्त भी है, के प्रति खुद को बहुत ज्यादा आकर्षित महसूस करती है. लेकिन वह उसे अपनी भावनाओं का इजहार करने से बहुत कतराती है क्योंकि ना तो वह यह जानती है कि मोहित उसके बारे में क्या सोचता है और ना ही वह इस बात से आश्वस्त है कि मोहित उसके लिए एक सही चुनाव है. इसके अलावा कहीं ना कहीं रुचि को यह डर भी सताता रहता है कि अगर उसने मोहित को अपनी दिल की बात बता दी तो कहीं उनकी दोस्ती भी टूट ना जाए.


अगर आप भी रुचि के ही जैसे हालातों से गुजर रही हैं, जिस लड़के को आप काफी दिनों से देख-परख रही हैं, लेकिन फिर भी उसकी भावनाओं का अनुमान लगा पाने में खुद को अक्षम महसूस कर रही हैं तो संभवत: आपकी यह परेशानी जल्द ही समाप्त होने वाली है. क्योंकि एक सामाजिक मनोवैज्ञानिक जियान गोंजांगा, जोकि एक डेटिंग वेबसाइट ई-हार्मनी की वरिष्ठ निदेशक हैं, ने कुछ ऐसे बिंदुओं को प्रस्तुत किया है जिनके अनुसार यह पता लगया जा सकता है कि जिस पुरुष के प्रति आप खुद को आकर्षित महसूस करती हैं और आपको लगता है कि आप उससे प्रेम करने लगी हैं लेकिन आपको भ्रम है कि वह आपके लिए सही चुनाव है या नहीं तो जियान के अनुसारनिम्नलिखित सुझाव आपके लिए बहुत हद तक सहायक हो सकते हैं:


  • बिना कुछ कहे एक-दूसरे की परेशानियों को समझना – अगर आप और आपका लव-इंटरेस्ट दोनों ही एक समय पर एक बात कहते और सोचते हैं, आपके कुछ कहने से पहले ही वह आपकी परेशानियों को भांप जाता है तो समझ जाइए कि यह आपके लिए एक सकारात्मक सिग्नल है. इसका सीधा संबंध आप दोनों की पारस्परिक समझ से है.

  • मनोवैज्ञानिक आकर्षण की प्रमुखता – सर्वेक्षणों के आधार पर यह स्पष्ट होता है कि शारीरिक आकर्षण केवल तब तक ही महत्व रखते हैं जब तक कि आप अपने साथी के साथ मनोवैज्ञानिक या भावनात्मक तौर पर नहीं जुड़े होते. क्योंकि जब आप एक-दूसरे के साथ आंतरिक रूप से जुड़ाव महसूस करने लगते हैं तो शारीरिक संबंध अपनी अहमियत खो देते हैं. इसी लिहाज से अगर आपका साथी आपके बाहरी व्यक्तित्व से ज्यादा आपकी भावनाओं और अपेक्षाओं को तरजीह देता है, तो निःसंदेह वह भी आपके लिए समान भावनाएं ही रखता है.

  • मूल्यों और विचारों में अंतर – जियान का कहना है कि अगर आप दोनों में कभी-कभार विचारों को लेकर अंतर हो भी जाता है तो इसे नकारत्मक ना समझें. क्योंकि जहां किसी भी संबंध में व्यक्तियों के बुनियादी मूल्यों और मानसिकता का समान होना जरूरी है, वहीं विचारों में थोड़ा-बहुत मतभेद होना भी जरूरी होता है. क्योंकि तभी आप एक-दूसरे के नजरिए को समझ सकते हैं.

  • आपके सुझावों को आदर देना – जिस पुरुष के प्रति आप खुद को आकर्षित महसूस करती हैं, वह आपकी बातों को महत्व देता है, आपके सुझावों को सही समझता है तो समझ लीजिए की थोड़ी-बहुत ही सही वह भी आपमें दिलचस्पी रखता है. इसके अलावा अगर वह अपनी गलती को मान कर आपको सही ठहराता है तो वह ईमानदार भी है.

  • प्रेम-प्रदर्शन – अगर वह पुरुष आपको स्पेशल महसूस कराने के लिए कभी-कभार कुछ हट कर करता रहता है, जैसे अगर कभी-कभार वह आपके लिए खुद खाना बना कर लाए. तो इसका स्पष्ट अर्थ यह है कि वह आपका ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करना चाहता है और साथ ही वह आपकी केयर भी करता है. लेकिन अगर वह घर पर अपनी मां और बहन के लिए भी अकसर खाना बनाता रहता है तो आपके लिए भी उसका खाना बनाना इतना अधिक प्रशंसनीय नहीं कहा जा सकता है.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *