Menu
blogid : 313 postid : 3023

अब उदासी को करें बाय-बाय!!

पेचीदा और तनाव ग्रस्त जीवनशैली से जूझते हुए व्यक्ति अपनी आत्मिक संतुष्टि को नजरअंदाज करता जा रहा है. प्रतिस्पर्धा प्रधान मानसिकता के कारण आज प्राय: सभी ओर अनजानी सी होड़ देखी जा सकती है. एक-दूसरे से आगे निकलने के चक्कर में किसी भी व्यक्ति का ध्यान अपनी व्यक्तिगत खुशहाली के प्रति जाता ही नहीं है. निश्चित तौर पर उनका यह व्यवहार व्यक्तिगत रूप से उनके लिए हितकारी नहीं है. अन्य लोगों से खुद की तुलना, उनसे जलन करना प्राय: सभी लोगों का स्वभाव ही बन चुका है. या तो वे किसी अन्य व्यक्ति को अपने से बेहतर नहीं आंकते या फिर उनकी अच्छाइयां देखकर खुद को कमतर समझने लगते हैं.


imagesअगर अपनी अति व्यस्त दिनचर्या और खुद को बेहतर साबित करने के चक्कर में आप भी अपनी मुस्कुराहट और खुशहाली से दूरियां बढ़ाते जा रहे हैं तो निम्नलिखित बिंदुओं पर अमल कर आप स्वयं अपने लिए एक सुखद और शांतिपूर्ण वातावरण निर्धारित कर सकते हैं.


1. आपकी उपलब्धियां किसी अन्य व्यक्ति के लिए मायने रखें ना रखें आपके लिए वह बहुत महत्वपूर्ण हैं. जब तक आप इन्हें एंजॉय नहीं करेंगे किसी भी व्यक्ति का ध्यान इस ओर नहीं जाएगा. इसीलिए सबसे पहले आप अपनी खुशियों के महत्व को समझें. इतना ही नहीं, अगर सफलता आपके साथी या किसी सहकर्मी को मिली है तो भी उनकी खुशियों में शामिल होकर उन्हें अपनी खुशी का अहसास करवाएं.


2. अगर किसी ने आपकी मदद की है तो उसके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करना बिल्कुल ना भूलें.


3. आपकी किसी दोस्त ने आपको सुख पहुंचाया है तो उनके बारे में कुछ गलत सोचने की बजाय आप यह सोचें कि आप खुद को एक अच्छा दोस्त कैसे साबित कर सकते हैं.


4. किसी भी व्यक्ति से गलत व्यवहार ना करें. आपसे कोई गलती हो गई है तो उनसे माफी मांगने में देर न करें. अगर आप किसी के साथ अच्छा करते हैं तो आपको भी बहुत अच्छी अनुभूति होती है.


5. अपने अतीत से जुड़ी बुरी यादों को लेकर ज्यादा समय तक परेशान ना रहें. अपने परिवार व दोस्तों के साथ बिताए उन अच्छे पलों को याद करें. अगर संभव हो तो घर में ही अपनी किसी हॉबी को पूरा करे जैसे संगीत सुनें, गेम खेलें या पसंदीदा किताब पढ़ें.


6. अपने आसपास की दुनिया में खूबसूरती देखने की कोशिश करें. यह आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा को प्रवाहित करेगा.


7. मेडिटेशन करने से मस्तिष्क शांत और एकाग्र रहता है. मेडिटेशन करने से आप अपने भीतर छिपी प्रतिभा को भी पहचान पाएंगे.


8. चिंतामुक्त नींद लेने की कोशिश करें. बेफिक्र होकर सोएंगे तो ही सुबह आशावादी दृष्टिकोण से कार्य करेंगे.

तो यह है महिलाओं का सीक्रेट पैशन


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *