Menu
blogid : 313 postid : 591946

भरी महफिल की जान बनना चाहते हैं

सुमित जहां भी जाता है अपने हंसमुख स्वभाव के कारण बहुत ही जल्द दोस्त बना लेता है. निरस माहौल में रंग भरना हो या फिर दो लोगों के बीच सुलह करवानी हो सभी जगह रोहित को ही याद किया जाता है. अपने बेतुके जोक्स और हर समय मस्ती के मूड में रहने के कारण वह लड़कियों का भी चहेता बन गया है. लड़के भले ही उसकी लोकप्रियता से जलन रखते हों लेकिन उसके कॉलेज की लड़कियां उसकी कंपनी बहुत एंजॉय करती हैं.



कॉरपोरेट कंपनी में काम करने वाला आकाश भी ऑफिस के बोरिंग माहौल में जान भर देता है. ऑफिस में अपने काम के प्रति बेहद गंभीर रहने वाला आकाश जब भी अपने दोस्तों के साथ होता है तो अपने गजब के मजाकिया लहजे के कारण वह बहुत ही जल्द लोकप्रिय हो जाता है. यहां तक कि उसके दोस्त तो उसे अपनी ग्रुप की जान मानते हैं.




आपके ग्रुप में या ऑफिस में भी कोई रोहित या आकाश जैसा व्यक्ति जरूर होगा. बहुत से लोगों को अच्छे सेंस ऑफ ह्यूमर वाले लोग बहुत पसंद आते हैं लेकिन हो सकता है कुछ लोग ऐसे भी हों जो उनके द्वारा हर समय किया जाने वाले मजाक को सहन ही न कर पाते हों और उन्हें सिरदर्द मानकर नजरअंदाज करते रहते हों. लेकिन अगर हम हाल ही में हुई एक रिसर्च पर नजर डालें तो जिन लोगों का सेंस ऑफ ह्यूमर बहुत अच्छा होता है वह अन्य लोगों को बहुत जल्दी आकर्षित करते हैं. इतना ही नहीं वह अपने लिए बेहतर जीवनसाथी ढूंढ़ने में भी सफल रहते हैं.


अमेरिका स्थित पेन स्टेट विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा संपन्न इस अध्ययन में 250 छात्रों को शामिल किया गया था, जिनमें से अधिकांश लोगों का यह कहना था कि वह चाहते हैं कि उनका जीवनसाथी हंसमुख, जिंदादिल और फन लविंग हो. छात्रों की इसी प्रमुखता को आधार बनाते हुए शोधकर्ताओं का कहना है कि यही वजह है कि वयस्क होने के बाद भी लोग अपने सेंस ऑफ ह्यूमर को जाहिर करने का मौका ढूंढ़ते रहते हैं.



डेली मेल में प्रकाशित इस रिपोर्ट के अनुसार बहुत से लोग एक खास रणनीति के तहत अपने हंसमुख स्वभाव को ही दुनिया के सामने पेश करते हैं, विशेषकर जिन व्यक्तियों को वह अपने भावी जीवनसाथी के रूप में देखते हैं उनके सामने वह खुद को खुशमिजाज दिखाते हैं.


इस अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता गैरी चिक का कहना है कि जिस तरह पुरुष महिलाओं को इम्प्रेस करने के लिए अपनी महंगी गाड़ियों का सहारा लेते हैं उसी प्रकार बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने लव-इंट्रस्ट को रिझाने के लिए अपने सेंस ऑफ ह्यूमर का सहारा लेते हैं. पुरुष ऐसा इसीलिए करते हैं क्योंकि वह खुद को नॉन-अग्रेसिव और विश्वसनीय दिखाना चाहते हैं वहीं महिलाएं खुद को जिंदादिल और खुशमिजाज दिखाने के लिए अपने सेंस ऑफ ह्यूमर का सहारा लेती हैं.



रिसर्चर्स का कहना है कि सेंस ऑफ ह्यूमर सभी के लिए जरूरी होता है लेकिन महिलाएं उन पुरुषों को पसंद करती हैं जो समझदार होने के साथ-साथ विश्वासपात्र भी हों. वहीं दूसरी ओर पुरुष फन-लविंग और हंसमुख महिला को ही पसंद करते हैं.



उपरोक्त अध्ययन को अगर हम भारतीय परिदृश्य के अनुसार देखें तो हंसमुख स्वभाव वाला व्यक्ति सभी को भाता है. भागती-दौड़ती और तनावग्रस्त जीवनशैली में वह व्यक्ति जो निराशा के समय आपके चेहरे पर हलकी सी ही सही अगर मुस्कान लाने में कामयाब रहे तो इससे बेहतर और हो भी क्या सकता है.




Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *