Menu
blogid : 27996 postid : 25

सॉफ़्टवेयर को हमेशा सावधानी से क्यों इंस्टॉल करना चाहिए

The More You Blog The More You Learn

The More You Blog The More You Learn

  • 2 Posts
  • 0 Comment

हैलो टेकी बर्ड्स। इस लेख में, आप जानेंगे कि आपका सॉफ़्टवेयर एडवेयर से सुरक्षित क्यों रहना चाहिए। यह आपके सिस्टम को नुकसान और खतरे का कारण बन सकता है और आपकी मशीन को बाधित कर सकता है। मैं विषय को उप-भागों में विभाजित करूँगा ताकि इसे समझना आसान हो। तो चलिए शुरू करते हैं अपना टॉपिक।

एडवेयर क्या है?

एडवेयर विज्ञापन सॉफ्टवेयर है जो उपयोगकर्ता के इंटरफेस पर विज्ञापन दिखाकर राजस्व उत्पन्न करता है। आपके डिवाइस पर विज्ञापनों का एक गुच्छा पॉप अप होता है और आपके पास इसे प्रबंधित करने के लिए सॉफ़्टवेयर तक पहुंच नहीं होती है। एडवेयर आपके ब्राउज़र के वेब पेज को बदल सकता है और आपके कंप्यूटर पर स्पाइवेयर सेट कर सकता है। एक बार स्थापित होने पर वे समस्याग्रस्त हो सकते हैं। आइए अगले भाग में जानते हैं कि वे कैसे समस्याएं पैदा कर सकते हैं।

अधिक विस्तृत जानकारी के लिए विकिपीडिया देखें या यहाँ क्लिक करें|

एडवेयर को दुर्भावनापूर्ण क्यों माना जाता है?

एडवेयर को दुर्भावनापूर्ण माना जाता है क्योंकि वे अवांछित विज्ञापन दिखाते हैं जो उपयोगकर्ता की सिफारिश नहीं हो सकते हैं लेकिन फिर भी डिवाइस पर प्रदर्शित होते हैं।

वे इस घटिया दृष्टिकोण से राजस्व अर्जित करते हैं और उपयोगकर्ताओं को परेशान करते हैं जो इसे दुर्भावनापूर्ण बनाता है।

वे मशीन में कैसे आते हैं?

वे मशीन में दो तरह से आ सकते हैं।
वो हैं –

1. ऐसे सॉफ़्टवेयर और प्रोग्राम डाउनलोड करना जिनमें एडवेयर हों और जो आपकी जानकारी के बिना सॉफ़्टवेयर के साथ आते हों।

2. यह खराब और दुर्भावनापूर्ण वेबसाइटों पर जाकर हो सकता है जो एडवेयर द्वारा रोगग्रस्त हैं।

सॉफ़्टवेयर को सुरक्षित रूप से क्यों स्थापित किया जाना चाहिए ताकि एडवेयर को हमारे में जगह न मिले
मशीन?

अब हमारे मुख्य विषय पर चर्चा करते हैं। इस जवाब की तारीफ करने से पहले बातें की गईं।

खतरे हैं-

1) हाईजैक ब्राउजर – एडवेयर आपके ब्राउजर को जब्त कर सकता है। वे आपके ब्राउज़र पर नियंत्रण हासिल कर सकते हैं और असामान्य विज्ञापन प्रदर्शित कर सकते हैं।

2) निकालना मुश्किल – एडवेयर आपके सिस्टम को बाधित कर सकता है। उनके कोड तक पहुंच गैर-परक्राम्य है। इस प्रकार मशीन में स्थापित होने के बाद इसे हटाना मुश्किल है।

3) राजस्व बनाना – वे इससे राजस्व उत्पन्न कर सकते हैं जैसा कि हमने पहले ही बात की थी। वे आपके डिवाइस पर विज्ञापनों की बौछार करके आपको परेशान करेंगे लेकिन साथ ही विज्ञापनों से पैसे भी कमाएंगे।

4) साइबर क्रिमिनल सॉफ्टवेयर – वे साइबर क्रिमिनल सॉफ्टवेयर के रूप में कार्य करते हैं क्योंकि वे अपराधों और अवैध गतिविधियों का प्रयास करने के लिए दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर का उपयोग करते हैं

5) डेटा खतरा – वे कंप्यूटर के लिए एक अदृश्य दरवाजे के रूप में काम करते हैं और डेटा या जानकारी चुरा सकते हैं। मशीन में प्रवेश करने के बाद कीमती डेटा या महत्वपूर्ण फाइलें एडवेयर के नियंत्रण में हो सकती हैं।

6) बंद खिड़की – विज्ञापन पॉप-अप या बंद खिड़कियों के रूप में प्रदर्शित होते हैं। इसका मतलब है कि विज्ञापन पृष्ठ बंद नहीं किया जा सकता है।

7) वायरस स्थापित करें – एडवेयर में आपकी मशीन में वायरस स्थापित करने की क्षमता होती है जो सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकती है।

एडवेयर के प्रवेश को रोकने के लिए क्या किया जा सकता है?

अब, कुछ एडवेयर को सरल उपायों से हटाया जा सकता है। लेकिन कुछ को विश्वसनीय एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होती है ताकि वे मशीन में प्रवेश न कर सकें।

माई सेफ सेविंग्स और फायरबॉल जैसे एडवेयर को रोकने के लिए, विश्वसनीय एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर जैसे नॉर्टन, अवास्ट या मालवेयर बाइट्स का उपयोग किया जाना चाहिए।

मैलवेयर अनइंस्टॉल करने के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप अनइंस्टॉल गाइड आधिकारिक साइट का संदर्भ ले सकते हैं।

निष्कर्ष –

निष्कर्ष निकाला जाएगा कि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि सॉफ़्टवेयर एडवेयर के बिना स्थापित किया गया है या उल्लिखित खतरे हानिकारक हो सकते हैं।

विश्वसनीय एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर होना भी उतना ही महत्वपूर्ण है जो एडवेयर को स्थापित होने से रोक सकता है। एडवेयर आपकी जानकारी के बिना आपके सिस्टम में प्रवेश कर सकता है और इसलिए परेशानी का कारण बन सकता है। यदि आप कोई नया सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम डाउनलोड करते हैं तो इसके प्रति सचेत रहें।

 

 

डिस्क्लेमर: उपरोक्त विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी हैं। जागरण डॉट कॉम किसी भी दावे, तथ्य या आंकड़े की पुष्टि नहीं करता है। 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *