Menu
blogid : 1969 postid : 452

चलो रूमानी हो जाएं

Jagran Yatra

  • 68 Posts
  • 89 Comments

Join us on : FACEBOOK

आप अपनी छुट्टी या घूमने के लिए विशेषकर ऐसी जगह चुनना पसंद करते हैं जहां रूह को कुछ समय के लिए सुकून मिल सके. अक्सर देखा जाता है कि हिल स्टेशनों पर बड़ी भीड़ रहती है और वह शांति नहीं मिल पाती जिसकी मन को अपेक्षा होती है.


DSC03169गुजरात के पर्यटन में भी सापूतारा हिल स्टेशन एक ऐसी ही जगह है. सापूतारा जितना प्राकृतिक सौन्दर्य देता है उतनी ही मन को शांति भी देता है. चारो तरफ से जंगलों से घिरा, झरनें, तालाब तथा पहाडियां सापूतारा को आकर्षक रुप प्रदान करते हैं.

महाराष्ट्र और गुजरात की सीमा रेखा पर बसा सापूतारा गुजरात के डांग जिले का एक प्रसिद्ध हिल रिजॉर्ट है. यहां की जलवायु पूरे साल ठंडी एवं स्फूर्तिदायक रहती है. यहां-वहां बहते छोटे-छोटे जल प्रपात इस हिल रिजॉर्ट को आकर्षक रुप प्रदान करते हैं.


यहां की प्राकृतिक सुन्दरता, सूर्योदय और सूर्यास्त तथा सुन्दरता से सराबोर गार्डन एवं संग्रहालय पर्यटकों के लिए कुछ खास आकर्षण के केन्द्र हैं. इनके साथ ही साथ रोप-वे भी आकर्षण का केन्द्र है. नाव की सवारी के शौकीन यहां पहाडियों के चारों ओर बहती झील में नौका विहार का आनंद ले सकते हैं. यहां का एक अन्‍य आकर्षण का केंद्र पुष्पक-वे है. यह देश का सबसे लंबा रोप-वे है. इसकी लंबाई एक किलोमीटर है.


सूर्योदय प्‍वाइंट

सूर्योदय प्‍वाइंट से सापूतारा के सबसे अद्भत नजा़रे का आनन्द लिया जा सकता है. मेलीगांवा में सूर्योदय प्‍वाइंट है. यहां से सूर्योदय को देखना अपने आप में एक अनोखा अनुभव होता है. पर्यटकों का मानना है कि यहां की असली सुन्दरता का मजा सूर्योदय को देखने में ही लिया जा सकता है. लेकिन इस मनोहारी दृश्य को देखने के लिए समय की कोई बन्दिश नहीं है.


पर्यटकों के स्वागत के लिए यहां गुजरात पर्यटन कार्यालय है. सापूतारा जाने के लिए निजी कार, टैक्सी और राज्य परिवहन की बसें उपलब्ध रहती हैं. कई पर्यटक पर्वतारोहण करते हुए यहां पहुंचते हैं.

FOR BEAUTIFUL HILL STATIONS CLICK HERE

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *