Menu
blogid : 1969 postid : 210

रोमांचक सफर का दौर

Jagran Yatra
Jagran Yatra
  • 68 Posts
  • 89 Comments

दिल्ली से सटी अरावली पहाडि़यों में ट्रेकिंग, कैपिंग और रॉक क्लाइबिंग करने के लिए अनेक उपयुक्त स्थान हैं। सितंबर से अप्रैल तक यहां ऐसी गतिविधियों का सुखद अनुभव किया जा सकता है।

हम जिक्र कर रहे हैं हरियाणा के सोहना कस्बे के समीप दमदमा झील से फरीदाबाद की ओर धौज नामक स्थान तक 10-12 किलोमीटर की ट्रेकिंग का। सोहना के समीप दमदमा झील पर पहुंचकर नजारा कुछ और ही हो जाता है। अरावली की ढलानों के बीच बनी इस झील के बनने की प्रक्रिया लगभग उसी प्रकार की है जैसे राजस्थान में उदयपुर की विशाल झीलों को प्रकृति ने बनाया है। अरावली के दक्षिणी ढलानों के परिणामस्वरूप इस झील का निर्माण हुआ है। वास्तव में अरावली पर्वत श्रृंखला अपने आप में अनोखी है। यह पर्वत भारत के पश्चिम में उत्तर पूर्व से दक्षिण पश्चिम की ओर मुख्यतया राजस्थान और कुछ हरियाणा के बीच, लगभग 800 कि.मी. तक लंबाई में फैला हुआ है। इसका एक कोना गुजरात और दूसरा दिल्ली की सीमा में समाप्त होता है। यह संसार के सबसे पुराने पर्वतों में से एक है। हिमालय के विपरीत इसकी ऊंचाई आदिकाल से मौसम के प्रभाव से घटती रही है। इसकी सबसे ऊंची चोटी माउंट आबू में ‘गुरु शिखर’ है। जहां कई साहसिक गतिविधियां चलती रहती हैं और एक पर्वतारोहण संस्थान भी है.

Read more here

Tags:            

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *