Menu
blogid : 249 postid : 876

बिंदास, बोल्ड और यूथ बेस्ड: Cocktail

Entertainment Blog

  • 217 Posts
  • 243 Comments

बिंदास, बोल्ड और यूथ बेस्ड मूवी: कॉकटेल


Movie Review of Cocktail

एक चीज तो अब बॉलिवुड ने मान ली है कि फिल्म देखने कोई बड़े बिजनेस मैन या राजनेता तो नहीं जाते. सिनेमाघरों की भीड़ सिर्फ युवाओं के कारण होती है और यही वजह है कि अब आए दिन आपको युवाओं की जिंदगी पर आधारित फिल्म देखने को मिल रही हैं. कॉकटेल भी इसी श्रेणी की फिल्म है. युवाओं का दिन में प्यार रात में ब्रेक-अप का खेल, बिंदास लाइफस्टाइल और संबंध टूटने पर बिखरने का अंदाज कॉकटेल में यह सब मौजुद है.


COCKTAIL Cocktail’s Movie Review

निर्देशक होमी अदजानिया ने फिल्म के कलाकारों को ऐसे ही किरदार दिए जिनमें वह फिट हो सकें जैसे सैफ को दिलफेंक आशिक का जैसा वह शायद रियल लाइफ में भी है. दीपिका पादुकोण को सेक्सी और बिंदास बाला का और चुंकी डायना पेंटी के लिए कोई रोल बचा ही नहीं था इसलिए उन्हें एक सिंपल और देशी गर्ल का किरदार निभाने के लिए कह दिया गया. यूं तो फिल्म की कहानी आप पहले ही जान चुके हैं और अगर अभी तक आप इस फिल्म की कहानी से रूबरू नहीं है तो यहां क्लिक करें: फिल्म कॉकटेल की कहानी


चलि जानते हैं कैसा रहा “कॉकटेल” का स्वाद?


फिल्म कॉकटेल की समीक्षा

फिल्म की कहीन इम्तियाज अली ने लिखी है. इम्तियाज अली को अगर युवा मन का दर्पण कहा जाए तो गलत नहीं होगा. “लव आजकल”, “रॉकस्टार” और अब “कॉकटेल” की कहानी लिखने वाले इम्तियाज अली ने अपनी कहानियों से अभी तक सबको प्रभावित किया है. इस फिल्म में भी उन्होंने अपनी छाप छोड़ी है.


फिल्म में अगर अभिनय की बात की जाए तो ऐसा लगता है सभी कलाकारों को उनके सांचे के अनुसार फिट कर दिया गया है. सैफ दिलफेंक आशिक की भूमिका में जंचते हैं. उन्होंने दिल चाहता है से लेकर लव आज कल तक में निभाई भूमिकाओं में से थोड़ा-थोड़ा याद कर कॉकटेल के गौतम को भी निभा दिया है. कुछ दृश्यों में वे बहुत अच्छे हैं तो कुछ में दोहराव की वजह से बहुत बुरे भी लगे हैं.


दीपिका पादुकोण भी बिगड़ी हुई लड़की का किरदार निभाने के अनुभव बटोर चुकी हैं. यहां उनमें थोड़ा और निखार दिखाई देता है. खास कर छूट जाने, अकेले पड़ने और प्रेमरहित होने के एहसास, भाव और दृश्यों में वह प्रभावशाली लगी हैं.सीधी-सादी मीरा के किरदार में पहली बार पर्दे पर आई डायना पेंटी में आत्मविश्वास है. वह अपने किरदार के साथ न्याय करती हैं. बोमन ईरानी और डिंपल कपाडि़या के किरदार घिसेपिटे हैं, इसलिए उनके अभिनय में नयापन भी नहीं है.


‘कॉकटेल’ का म्‍यू‍जिक रिलीज होने से पहले हिट हो चुका है. फिल्‍म के गानों को खासतौर पर युवाओं को ध्‍यान में रखकर तैयार किया गया है. ‘तुम ही हो बंधू…’ और ‘दारू देसी…’ जैसे गीतों ने कॉकटेल में हैंगओवर का काम किया है.


युवाओं के लिए इस फिल्म के जादु से दूर रह पाना बहुत ही मुश्किल है. जिस तरह एक कॉकटेल में कई तरह का स्वाद होता है उसी तरह “कॉकटेल” में भी प्यार, आवारगी और दर्द का मिश्रण है. यह फिल्म जरूर देखनी चाहिए लेकिन हां यह फिल्म फैमली के साथ देखने लायक नहीं है लेकिन हां अगर दोस्तों के साथ इस फिल्म को देखेंगे तो यकीन मानिए “कॉकटेल” का नशा “देशी दारू” से  भी ज्यादा चढेगा.


Meera, Veronica, Diana Penty, saif ali khan, सैफ अली खान, दीपिका पादुकोण, bollywood movie reviews, music reviews, Cocktail Review,Cocktail Movie Review,cocktail, Saif Ali Khan, Deepika Padukone, Read ‘Cocktail review’, Cocktail movie review in hindi, Cocktail story in hindi

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *