Menu
blogid : 147 postid : 941

रक्षाबंधन – कभी झगड़ा तो कभी दुलार जिसमें झलकता है भाई-बहन का प्यार !!

Jagran Junction Blog

  • 158 Posts
  • 1211 Comments

फूलों का तारों का सबका कहना है, एक हजारों में मेरी बहना है!!


पर्व और त्यौहारों के देश कहे जाने वाले भारत में यूं तो कई ऐसे त्यौहार हैं जो बड़े ही धूमधाम के साथ मनाए जाते हैं लेकिन इन सभी में राखी एक ऐसा पर्व है जो भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को और अधिक मजबूत और सौहार्दपूर्ण बनाए रखने का एक बेहतरीन जरिया सिद्ध हुआ है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधते हुए उसकी लंबे और खुशहाल जीवन की प्रार्थना करती हैं वहीं भाई ताउम्र अपनी बहन की रक्षा करने और हर दुख में उसकी सहायता करने का वचन देते हैं।


पारिवारिक रिश्तों का स्वरूप भी बहुत अजीब होता है। अब भाई-बहन को ही ले लीजिए, दोनों में झगड़ा तो जरूर होता है लेकिन फिर भी वे एक-दूसरे की तकलीफों को समझते हैं। भले ही वे अपनी भावनाओं का प्रदर्शन ना कर पाएं लेकिन जब भाई को अपनी बहन की या बहन को अपनी भाई की जरूरत होती है तो वह वहां जरूर मौजूद रहते हैं। साथ-साथ खेलने और बड़े होने के कारण वह एक-दूसरे से जुड़ी हर अच्छी-बुरी बात को समझते हैं। बचपन से लेकर जवानी तक वह हर उन खट्टे-मीठे लम्हों को जीते हैं जो उन्हें एक-दूसरे के और नजदीक ले आते हैं।


सामाजिक व्यवस्था और पारिवारिक जरूरतों के कारण आज बहुत से भाई अपनी बहन के साथ ज्यादा समय नहीं बिता पाते ऐसे में रक्षाबंधन का दिन उन्हें फिर से एक बाद निकट लाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। कुछ ही दिनों में राखी का त्यौहार आने वाला है। जाहिर है आपने इस दिन से जुड़ी सभी तैयारी शुरू कर दी होंगी। हालांकि भावनाओं से ओत-प्रोत संबंधों में तोहफों का महत्व बहुत ज्यादा नहीं होता लेकिन फिर भी भाई कुछ ना कुछ अपनी बहन को जरूर देता है।


लेकिन जो बात शब्दों से अपनी भावनाओं को बयां करने में है वह किसी तोहफे में नहीं हो सकती। भाई-बहन के इसी प्यार भरे रिश्ते को समझते हुए जागरण जंक्शन मंच आपको अपना ब्लॉग लिखकर एक-दूसरे के प्रति अपनी भावनाओं के आदान-प्रदान का एक बेहतरीन अवसर दे रहा है। आप अपनी भावनाओं को शब्दों का रूप देकर अन्य पाठकों के साथ भी सांझा कर सकते हैं।


नोट: अपना ब्लॉग लिखते समय इतना अवश्य ध्यान रखें कि आपके शब्द और विचार अभद्र, अश्लील और अशोभनीय ना हों तथा किसी की भावनाओं को चोट ना पहुंचाते हों।


धन्यवाद

जागरण जंक्शन परिवार

Read More About Raksha Bandhan:

Importance of Rakhi

Rakhi’s Gifts

Indian Festival Raksha bandhan

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *