Menu
blogid : 7629 postid : 776781

अगर डॉक्टर मौत की खबर देना नहीं भूलता तो शायद वह जिंदा होती

अकसर आप ऐसी खबरें जरूर पढ़ते या सुनते होंगे जिसमें ‘एक पेशेवर डॉक्टर ऑपरेशन करने के दौरान मरीज के पेट में तौलिया या कैंची भूल गया’ लेकिन कभी आपने सुना है कि मरीजों को जिंदगी देने वाले यही डॉक्टर मरीज को मौत की खबर देना भूल गया हो.


cancer10


दरअसल यह चौका देनी वाली खबर न्यूजीलैंड की है जहां एक डॉक्टर ने मर चुकी एक महिला मरीज के परिवार वालो से इसलिए माफी मांगी क्योंकि उसने महिला मरीज या उसके परिवार वालों को यह जानकारी नहीं दी कि उसे ब्रेस्ट कैंसर है.


Read: एक जिंदगी को बचाने के लिए 10,000 टन की ट्रेन को ही उठा दिया गया


गौरतलब है कि 2009 के नवंबर महीने में यह महिला अपने बाएं कंधे के इलाज के लिए एक अज्ञात मेडिकल सेंटर गई. चेकअप कराने के बाद चिकित्सक ने उसे एक्स रे करा लेने की सलाह दी. एक्स रे करने के बाद रेडियोलाजिस्ट ने ब्रेस्ट कैंसर के बारे में जो जानकारी डॉक्टर को दी, डॉक्टर यही जानकारी महिला मरीज को देने में विफल रहा.


CANCER


गौर करने वाली बात यह है कि इस दौरान महिला मरीज कई बार अस्पताल गईं इसके बावजूद भी डॉक्टर ने उसे यह तक नहीं बताया कि उसे ब्रेस्ट कैंसर है. 2009 में नवंबर महीने में ही महिला मरीज ने डॉक्टर को बताया कि ‘अगर उसके कंधे का दर्द सही नहीं हुआ तो वह फिर वापस आएगी’. नवंबर के बाद दर्द के सिलसिले में महिला दिसंबर और जनवरी महीने में भी उसी डॉक्टर से मिलने गई.


महिला मरीज को ब्रेस्ट कैंसर की बीमारी का पता तब लगा जब उसने फरवरी 2010 में अपने डॉक्टर को बदला. लगातार पांच साल तक चले इलाज के बावजूद भी महिला की मौत हो गई. जांच में ब्रेस्ट कैंसर बीमारी की जानकारी न देने वाले डॉक्टर ने माना कि उसने महिला को उसकी बीमारी के बारे में बताने में देरी की.


Read more:

कुदरत के कहर से लड़ती एक मां की कहानी, शायद आपको अपनी आंखों पर यकीन नहीं होगा

पहले शराब पिलाते हैं फिर इलाज करते हैं, क्या यहां मरीजों की मौत की तैयारी पहले ही कर ली जाती है?

कौन है जिसने सृष्टिकर्ता ब्रह्मा का सिर काटने का साहस किया


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *