Menu
blogid : 7629 postid : 1314068

पेड़ पर चढ़कर खाना खाती हैं यहां की बकरियां, उनकी लीद से बनता है दुनिया का सबसे महंगा तेल

दुनिया में कई ऐसी जगहे हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना हो, मोरक्को नामक देश का नाम तो शायद आपने सुना ही होगा. ये देश उत्तरी अफ्रीका में है. इस देश में ज्यादातर इलाके काफी सूखे और रेतीले हैं, लेकिन यहां पर सबसे ज्यादा आकर्षण का केंद्र है यहां पाई जाने वाली बकरियां, जो पेड़ों पर चढ़कर आराम से अपना भोजन करती हैं. आइए जानते हैं आखिर क्यों ये बकरियां पेड़ों पर चढ़ती हैं.


cover new

मोरक्को की जमीन रेतीली होने के चलते बकरियों को जमीन पर खाना कम ही मिल पाता है, ऐसे में उन्हें भोजन की तलाश में पेड़ों पर चढ़ना पड़ता है. कहते हैं कि तेज ढलानों वाले इलाकों और पहाड़ों पर आते-जाते बकरियां पेड़ों पर चढ़ने के काबिल बनती हैं.



goat

मोरक्को में ‘आर्गन’ नाम का फलों का एक पेड़ पाया जाता है, जिस पर बकरियां अक्सर चढ़ जाती हैं. एक आर्गन ट्री करीब 8 से 10 मीटर ऊंचा होता है और उसकी उम्र 150 से 200 साल तक होती है. इसकी ऊंचाई कम होती है, ऐसे में जाहिर है कि बकरियां आसानी से उसपर चढ़ जाती होंगी.



goats



‘आर्गन’ पेड़ दुनिया के बेहद कम ईलाकों में पाया जाता है, बकरियां इस पेड़ पर लगे फलों को खान के लिए पेड़ पर चढ़ती हैं. ये बकरियां इसके फल में स्थित बीज को खा लेती हैं, इसमें छिपे बीज से आर्गन ऑयल निकलता है, जो महंगा और उपयोगी होता है. जब बकरियां इस बीज को खा लेती हैं, तो आस-पास के गांव वाले बकरियों की कीमती लीद को इक्टठा करते हैं और उससे आर्गन तेल (Argan oil) बनाते हैं.


moraco goat



आर्गन तेल (Argan oil) दुनिया का सबसे महंगा तेल है. ये फैटी एसिड और विटामिन्स से परिपूर्ण होता है. इससे फैंसी कॉस्मेटिक्स और फूड आइटम्स बनते हैं, जो काफी महंगे होते हैं. इस तेल को मुख्य रुप से यूरोप और अमेरिका में बेचा जाता है…Next


इस वीडियो में यहां आप बकरियों को पेड़ पर चढ़े हुए देख सकते हैं-



Read More:

क्या ख्याल है आपका पेड़ पर उगने वाली इन वेजिटेरियन बकरियों के बारे में, हकीकत जानना चाहते हैं तो क्लिक करें

अनोखा संबंध:  इस गांव में पेड़ बेटियों और बेटियां पेड़ों को बचाती हैं

सिर्फ एक सपने की खातिर बकरियों के बीच सात दिन रहा बकरी बनकर

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *