Menu
blogid : 7629 postid : 791519

पत्थर में बदला कुत्ता, इस युग के राम आए उद्धार करने के लिए

रामायण में वर्णित भगवान राम और देवी अहल्या के किस्से से अधिकतर लोग वाकिफ होंगे. अपने पति महर्षि गौतम के शाप के कारण अहल्या पत्थर में बदल जाती हैं और सालों बाद भगवान राम के पैरों के स्पर्श के कारण वे वापस मानव रुप में आ सकीं. कुछ ऐसी ही घटना राजस्थान में हुई पर यहां अहल्या कि जगह एक कुत्ता था और राम बनकर आए, जानवरों के लिए काम करने वाली एक संस्था के कुछ स्वंयसेवी.

रामायण में वर्णित भगवान राम और देवी अहल्या केकिस्सेसेअधिकतर लोग वाकिफ
हअपनेपति महर्षि गौतम केशाप केकारण अहल्या पत्थर में बदल जाती हैं और
सालों बाद भगवान राम केपैरों केस्पर्श केकारण वेवापस मानव रुप में आ सकीं. कुछ
ऐसी ही घटना राजस्थान मेंहुई पर यहांअहल्या कि जगह एक कुत्ता था और राम बनकर
आए, जानवरोंकेलिए काम करनेवाली एक संस्था केकुछ स्वंयसेवी.
इस संस्था नेएक वीडियो जारी किया हैजिसमें एक कुत्ता नजर आ रहा हैजिसकेऊपर
तारकोल की एक परत चढ़ी हुई है. इस वीडियो केअनुसार यह कुत्ता गर्म तारकोल केघोल
मेंगिर गया था. तारकोल केसूखनेकेबाद कुत्ता पत्थर सरीखा बन गया और वह हिल-डुल
भी नहींपा रहा था.
एक राहगीर नेकुत्तेको इस असहाय हालत में देखकर उदयपुर स्थित स्वयंसेवी संस्था
को फोन किया जिसकेबाद इस संस्था की एक टीम कुत्तेकेबचाव केलिए घटना स्थल
पर पहुंची. दिल को छूलेनेवालेइस वीडियो में कुत्तेकेशरीर पर तारकोल में धूल, पत्ते
आदी चिपकेहुए नजर आ रहेंहैं. वीडियोंमेंदिखाया गया हैकि बचाव दल बेहद ही सावधानी
सेइस कुत्तेकेशरीर सेतारकोल छुटातेहुए नजर आ रहेहैं. यह टीम पहलेवनस्पति तेल
लगाकर तारकोल को नरम करती हैफिर हल्के-हल्केहांथोंसेकुत्तेकेशरीर सेतारकोल को
छुटा रही है.
इस दौरान कुत्ता पलकेझपकातेहुए बचाव दल को बेहद मासूम निगाह सेदेख रहा है. इस
प्रक्रिया मेंपूरेदो दिन लग गए. कुत्तेकेशरीर सेपूरी तरह तारकोल छुटनेकेबाद उसरामायण में वर्णित भगवान राम और देवी अहल्या के किस्से से अधिकतर लोग वाकिफ होंगे. अपने पति महर्षि गौतम के शाप के कारण अहल्या पत्थर में बदल जाती हैं और सालों बाद भगवान राम के पैरों के स्पर्श के कारण वे वापस मानव रुप में आ सकीं. कुछ ऐसी ही घटना राजस्थान में हुई पर यहां अहल्या कि जगह एक कुत्ता था और राम बनकर आए, जानवरों के लिए काम करने वाली एक संस्था के कुछ स्वंयसेवी.

1


इस संस्था ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें एक कुत्ता नजर आ रहा है जिसके ऊपर तारकोल की एक परत चढ़ी हुई है. इस वीडियो के अनुसार यह कुत्ता गर्म तारकोल के घोल में गिर गया था. तारकोल के सूखने के बाद कुत्ता पत्थर सरीखा बन गया और वह हिल-डुल भी नहीं पा रहा था.


Read: रामायण और गीता का युग फिर आने को है


एक राहगीर ने कुत्ते को इस असहाय हालत में देखकर उदयपुर स्थित स्वयंसेवी संस्था को फोन किया जिसके बाद इस संस्था की एक टीम कुत्ते के बचाव के लिए घटना स्थल पर पहुंची. दिल को छू लेने वाले इस वीडियो में कुत्ते के शरीर पर तारकोल में धूल, पत्ते आदी चिपके हुए नजर आ रहें हैं.


2


Read:  अपने स्टूडेंट के साथ सेक्स करने का बहाना ढूंढ़ती है यह महिला टीचर


वीडियों में दिखाया गया है कि बचाव दल बेहद ही सावधानी से इस कुत्ते के शरीर से तारकोल छुटाते हुए नजर आ रहे हैं. यह टीम पहले वनस्पति तेल लगाकर तारकोल को नरम करती है फिर हल्के-हल्के हांथों से कुत्ते के शरीर से तारकोल को छुटा रही है.


3 4


इस दौरान कुत्ता पलके झपकाते हुए बचाव दल को बेहद मासूम निगाह से देख रहा है. इस प्रक्रिया में पूरे दो दिन लग गए. कुत्ते के शरीर से पूरी तरह तारकोल छुटने के बाद उसका भूरा रंग दिखाई पड़ता है. वीडियो के अंत में यह कुत्ता खुशी-खुशी पूंछ हिलाते, गार्डन में घूमते और टीम द्वारा दिया गया खाना खाते नजर आ रहा है. अगर यह बेजुबान बोल पाता तो शायद अहल्या की भांति राम के रुप में आई इस टीम को अपनी कहानी सुनाता और आभार व्यक्त करता.


Read:

गर्मागर्म चाय और मूली-बाजरे की रोटी

इस इंसानी भूत का रहस्य क्या है?

सबकी नजर से बचने के लिए ‘दादा साहब फाल्के’ पुरस्कार को नकारा

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *