Menu
blogid : 7629 postid : 1193485

15 साल की उम्र में बनी थी सीता, अब ऐसी दिखती हैं दीपिका

साल 1987 में भारतीय टेलीविजन पर शुरू हुए रामानंद सागर की ‘रामायण’ ने कुछ ही दिनों में हर घर में अपनी जगह बना ली थी. लाखों भारतीय इस पौराणिक धारावाहिक के दीवाने थे. इस धारावाहिक की खास बात इसके किरदार थे जिसने लोगों के दिलों में वो जगह बनाई जो आजतक कोई नहीं बना सका, और उसमें से एक हैं दीपिका जिन्होंने सीता का किरदार निभाया था. उन्होंने सीता के रूप में घर-घर में अपनी खास जगह बनाई. करोड़ों दिलों में दीपिका चिखलिया की छवि अब भी सीता के रूप में बनी हुई है.


deepika 12




आपको जानकर हैरानी होगी कि सीता का रोल करने वाली दीपिका उस वक्त महज 15 साल की थी. और उन्हें इस धारावाहिक से उतनी उम्मीद नहीं थी जितनी सफलता उन्हें मिली. उन्हें अदाकारी का शौक था और जब उन्हें यह मौका मिला तो वह खुद को रोक नहीं पाई और इस किरदार के लिए हामी भर दी. वैसे हमें बताने की जरूरत नहीं है कि उनकी लोकप्रियता ने किस मुकाम को हासिल किया था, लेकिन जब ये धारावाहिक बंद हुआ उसके बाद सबके दिलों में बसने वाली दीपिका ना जाने अचानक से कहां खो गई. और हम भी बदलते वक्त के साथ उन्हें भूल गए. लेकिन क्या आप जानना चाहेंगे कि इस समय दीपिका कहां है?


dee


Read : क्या माता सीता को प्रभु राम के प्रति हनुमान की भक्ति पर शक था? जानिए रामायण की इस अनसुनी घटना को


दरअसल,  दीपिका ने एक कॉस्मैटिक कंपनी के मालिक हेमंत टोपीवाला से शादी कर ली थी. फिलहाल, दीपिका इसी कंपनी की रिसर्च और मार्केटिंग टीम को हेड करती हैं. उनकी दो बेटियां हैं. निधि टोपीवाला और जूही टोपीवाला हैं. दीपिका फिलहाल अभिनय क्षेत्र में लौटना नहीं चाहती हैं. हालांकि उन्हें आज भी धार्मिक किरदारों की पेशकश होती है. दीपिका का पूरा ध्यान अभी अपनी बेटियों पर है और साथ ही वह अपने परिवार को भी पूरा समय देना चाहती हैं.



sita

दीपिका को उस वक्त के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने भी सम्मानित किया था. उन्हें हर जगह पहचान मिली. उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था, “जब हम बाहर निकलते थे तो लोग हमारे पैर छूते थे. वो समझते थे कि हम वाकई राम और सीता हैं.” रामायण’ को भले ही तीन दशक बीत चुके हों, लेकिन दीपिका आज भी सीता के रूप में ही घर-घर में पहचानी जाती हैं… Next


ss


Read More :

क्या था वो श्राप जिसकी वजह से सीता की अनुमति के बिना उनका स्पर्श नहीं कर पाया रावण?

किस गर्भवती ने दिया था सीता को राम से वियोग का श्राप

राम ने नहीं सीता ने किया था राजा दशरथ का पिंडदान, ये पांच जीव बने थे साक्षी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *