Menu
blogid : 7629 postid : 811201

क्यों हैं चीन के इस गांव के लोग दहशत में, क्या सच में इनका अंत समीप आ गया है

बेहद भयावह होगा वो समय जब अचानक से एक रात के अंदर ही हमारी पृथ्वी पर एक बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा, दुनिया तहस-नहस हो जाएगी.. सब तबाह हो जाएगा. हमारी विचित्र कल्पनाओं में बसने वाली यह बातें अब सिर्फ बातें ही नहीं बल्कि सच्चाई का रूप ले रही है.


red ocean


चीन के गुआंग्डोंग क्षेत्र के साथ लगने वाले समुद्रीय तट ने रातों रात अपना रंग बदल लिया. उस सुबह जब गांव वालों ने समुद्र को देखा तो वे हक्के-बक्के रह गए. समुद्र का रंग गहरा लाल हो गया था. पहले क्षण में तो गांव वालों को लगा कि शायद किसी समुद्री जीव ने किसी इंसान को मार दिया है जिसका खून बहकर समुद्र तट की ओर आ गया है लेकिन जब लोगों ने कुछ दूर तक यहीं रंग देखा तो वे और परेशान हो गए.


यह लाल रंग ना केवल समुद्र के तट तक सीमित था बल्कि आधे से ज्यादा समुद्र पर अपनी चादर बिछाए हुए था. अब गांव वाले और भी सहम गए. उन्होंने हजारों वर्षों पुराने एक दस्तावेज में पढ़ा था कि जिस दिन समुद्र का रंग लाल हो जाएगा वह दिन निश्चित ही दुनिया का आखिरी दिन होगा, यानी कि अंत आ गया है.


Read: एक ऐसा गांव जहां हर आदमी कमाता है 80 लाख रुपए


Red tides


चारों तरफ डर की लहर दौड़ रही थी, हर कोई अपने चेहरे पर एक अनचाही परेशानी लिए घूम रहा था. लेकिन फिर सच्चाई का पता लगा. इस खबर को सुनने के बाद कुछ वैज्ञानिकों ने इस पर शोध किया और इस शोध में जो सामने आया वो चौकाने वाला था.


वैज्ञानिकों ने बताया कि समुद्र के तल पर ‘अल्गई ब्लूम्स’ नाम की एक काई जब सामान्य से ज्यादा पैदा हो जाती है तो उसके प्रभाव से समुद्र का रंग गहरा लाल या फिर भूरा होने लगता है. यह काई जब कभी भी समुद्र में एक जगह पर पनपती है तो यह काफी तेजी से फैलने लगती है और यही कारण है कि गुआंग्डोंग के तटीय क्षेत्र के काफी बड़े हिस्से का रंग लाल हो गया.


Read: शायद उन्हें अंदाजा ना था कि एक एड्स संक्रमित मरीज का अपमान करना पड़ सकता है इतना महंगा, जिंदगी से रूबरू कराती एक हकीकत


red sea


वैज्ञानिकों ने गांव वालों से आग्रह किया कि भले ही मामला उतना संजीदा नहीं है जैसा कि वे लोग समझ रहे थे लेकिन खतरा अभी भी टला नहीं है. वैज्ञानिकों द्वारा लोगों को समुद्र के पास जाने, उसका पानी इस्तेमाल करने और यहां तक कि इस समुद्र से किसी भी तरह का जीव पकड़ने के लिए मना कर दिया गया है क्योंकि ऐसे समय में इस समुद्र के जीव ना केवल हानिकारक हैं बल्कि जानलेवा भी हैं.


इससे पहले भी समुद्र के रंग बदलने पर वर्ष 2013 में एक शोध किया गया था जिसमें यह साबित हुआ था कि जब कभी भी हमारी जलवायु में कोई बड़ा बदलाव आता है तो उसका प्रभाव ना केवल हमारे पर्यावरण पर पड़ता है बल्कि यह मानव जाति के लिए भी विनाश का कारण बन सकता है. Next…


Read:

आसमान से उतरा था वो या समय की गति को मात देकर आया था…देखिए चीन की सड़कों पर घूमते एक रहस्यमय व्यक्ति की हकीकत


यहां हर दूसरा बच्चा ‘एक्स्ट्रा’ है जिसकी किसी को जरूरत नहीं, पढ़िए सड़कों पर बिलखते हजारों नवजात बच्चों की मार्मिक हकीकत


मर्द भी कर सकेंगे उस दर्द का अनुभव जो प्रकृति ने सिर्फ स्त्रियों को दिया है

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *