Menu
blogid : 4683 postid : 298

फेसबुक – कुछ तेरी कुछ मेरी (Facebook Poem)

Hasya Kavita

  • 272 Posts
  • 172 Comments

FACEBOOK STORY, FACEBOOK STORY AND FACEBOOK TRICKS-TIPS


funny-facebook-profile-picture-no-pic-avatarएक समय था जब भारतीय बच्चों में ऑरकुट को लेकर दीवनगी पागलपन की हद तक थी. लेकिन जैसे ही फेसबुक आया यह दीवानगी कहीं खो सी गई. अब भारत के युवाओं में फेसबुक का क्रेज कुछ ऐसा चढ़ा है कि पूछों ना. कोई भी बात हो वह फेसबुक पर तो चड़ती है. कभी वॉल पोस्ट में तो कभी दोस्तों के कमेंट में आज फेसबुक युवाओं का सबसे अच्छा हैंग आउट बन चुका है.

Hasya Kavita: अजीब है यह पहेली


इसी ट्रेंड को देखते हुए मैंने एक हास्य कविता खोजी जिसे आप तक पहुंचा रहा हूं. आइयें पढ़ते हैं मजेदार कविता:

बुरी आदते जो भी है अभी से बदल डालो

मौका मिलते ही तुम फेसबुक खोल डालो

हर पल अपना स्थिति संदेश बदल डालो

मित्रो टिप्पणी मेरी दीवार पर लिख डालो


सुबह हो शाम या फिर दिन हो या रात

करो अपनों से दिल की या फालतू बात

अपनी खतम हो तो करो दूसरों की बात

मित्रो देर सुबेर कर लेना मुझसे तुम बात


लगे छींक, होवे बुखार या हो जाये प्यार

बस जल्दी से लिख डालो ताज़ा समाचार

खुसनसीब होगे तो लग जाएगी भीड़ अपार

बदनसीब होंगे तो मित्र आएंगे बस दो चार


किसी समूह मे यदि न दे कोई आपको भाव

तब बात करो येसी कि बन जाये वो घाव

बनाओ अपना भी समूह खेलो तुम येसा दाँव

उद्देश्य न समझे कोई पर दे आपको केवल भाव


महिलाओं को मिलता यहाँ भी है खूब सम्मान

चाटुकारिता अपनाओ और बढ़ाओ अपना मान

कुछ विवादास्पद कह कर बढ़ाओ अपनी शान

कदम फूँककर रखना ये फेसबुक है भाई-जान


खूब मनाओ और भुनाओं तुम सारे अवसर

उड़ाओ मज़ाक किसी का या करो तिरस्कार

वैसे प्रोफाइल आपका, उसपर आपका अधिकार

कोई आहत न हो यहाँ, इसका करना विचार


hasya kavita for children: कैसे ट्रेन चलती है ?

Hasya Kavita: मुन्ना मिमियाने लगा, पढने को न जाऊं,

लड़की पटाने के तरीके


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *