Menu
blogid : 11961 postid : 645206

children’s day special quotes

Famous Quotations

  • 77 Posts
  • 3 Comments

एक नेता या कर्मठ व्यक्ति संकट के समय लगभग हमेशा ही अवचेतन रूप में कार्य करता है और फिर अपने किये गए कार्यों के लिए तर्क सोचता है.

जवाहरलाल नेहरू

एक ऐसा  क्षण जो इतिहास में बहुत ही कम आता है , जब हम पुराने के छोड़ नए की तरफ जाते हैं , जब एक युग का अंत होता है , और जब वर्षों से शोषित  एक देश की आत्मा , अपनी बात कह सकती है.

-जवाहरलाल नेहरु

एक सिद्धांत को वास्तविकता के साथ संतुलित किया जाना चाहिए.

-जवाहरलाल नेहरु

जब तक मैं स्वयं में आश्वस्त हूँ की किया गया काम सही काम है तब तक मुझे संतुष्टि रहती है.

-जवाहरलाल नेहरु

कार्य के प्रभावी होने के लिए उसे स्पष्ठ लक्ष्य की तरफ निर्देशित किया जाना चाहिए.

-जवाहरलाल नेहरु

नागरिकता देश की सेवा में निहित है.

-जवाहरलाल नेहरु

संकट और गतिरोध जब वे होते हैं तो कम से कम उनका एक फायदा होता है कि वे हमें सोचने पर मजबूर करते हैं.

-जवाहरलाल नेहरु

संस्कृति मन और आत्मा का विस्तार है.

-जवाहरलाल नेहरु

लोकतंत्र और समाजवाद लक्ष्य पाने के साधन है, स्वयम में लक्ष्य नहीं.

-जवाहरलाल नेहरु

लोकतंत्र अच्छा है . मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि बाकी व्यवस्थाएं और बुरी हैं.

-जवाहरलाल नेहरु

संकट के समय हर छोटी चीज मायने रखती है.

-जवाहरलाल नेहरु

तथ्य तथ्य हैं और आपके नापसंद करने से गायब नहीं हो जायेंगे.

-जवाहरलाल नेहरु

असफलता तभी आती है जब हम अपने आदर्श, उद्देश्य, और सिद्धांत भूल जाते हैं.

-जवाहरलाल नेहरु

महान कार्य और छोटे लोग साथ नहीं चल सकते.

-जवाहरलाल नेहरु

मैं पूर्व और पश्चिम का अनूठा मिश्रण बन गया हूँ, हर जगह बेमेल सा , घर पर कहें का नही.

-जवाहरलाल नेहरु

अज्ञानता बदलाव से हमेशा डरती है.

-जवाहरलाल नेहरु

सुझाव देना  और बाद में हमने जो कहा उसके नतीजे से बचने की कोशिश करना बेहद आसान है

-जवाहरलाल नेहरु

हर एक हमलावर राष्ट्र की यह दावा करने की आदत होती है कि वह अपनी रक्षा के लिए कार्य कर रहा है.

– जवाहरलाल नेहरु

हमें थोडा विनम्र रहना चाहिए; हम ये सोचें कि शायद सत्य पूर्ण रूप से हमारे साथ ना हो.

– जवाहरलाल नेहरु

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है. आपके हाथ में जो है वह नियति है , जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है.

– जवाहरलाल नेहरु

वफादार और कुशल महान कारण के लिए कार्य करते हैं, भले ही उन्हें तुरंत पहचान ना मिले, अंततः उसका फल मिलता है.

– जवाहरलाल नेहरु

जाहिर है, दक्षता का सबसे अच्छा प्रकार वह है जो मौजूदा सामग्री का अधिकतम लाभ उठा सके.

– जवाहरलाल नेहरु

हमारे अन्दर सबसे बड़ी कमी यह है कि हम चीजों के बारे में बात ज्यादा करते हैं और काम कम.

– जवाहरलाल नेहरु

शांति राष्ट्रों का सम्बन्ध नहीं है. यह एक मन: स्थिति है जो आत्मा की  निर्मलता से आती है . शांति सिर्फ युद्ध का अभाव नहीं है.यह मन की एक अवस्था है.

– जवाहरलाल नेहरु

समाजवाद…ना केवल जीने का तरीका है, बल्कि सामजिक और आर्थिक समस्यों के निवारण के लिए एक वैज्ञानिक दृष्टिकोण है.

– जवाहरलाल नेहरु

लोगों की कला उनके दिमाग का सही दर्पण है.

-जवाहरलाल नेहरु

यदि पूंजीवादी समाज की शक्तियों को अनियंत्रित छोड़ दिया जाए तो वो अमीर को और अमीर और गरीब को और गरीब बना देंगी.

– जवाहरलाल नेहरु

जो व्यक्ति जो सबकुछ पा चुका है वह हर एक चीज शांति और व्यवस्था के पक्ष में चाहता है.

– जवाहरलाल नेहरु

सह- अस्तित्व का केवल एक विकल्प है सह- विनाश.

– जवाहरलाल नेहरु

जो व्यक्ति भाग जाता है वह शांत बैठे व्यक्ति की तुलना में अधिक खतरे में पड़ जाता है.

– जवाहरलाल नेहरु

जो व्यक्ति अधिकतर अपने ही गुणों का बखान करता रहता है वो अक्सर सबसे कम गुनी होता है.

– जवाहरलाल नेहरु

बहुत अधिक सतर्क रहने की नीति सभी खतरों में सबसे बड़ा है.

– जवाहरलाल नेहरु

पूर्ण रूप से आन्दोलनकारी रवैया किसी विषय के गहन विचार के लिए ठीक नहीं है.

– जवाहरलाल नेहरु

शायद जीवन में भय से बुरा और खतरनाक कुछ भी नहीं है.

– जवाहरलाल नेहरु

समय सालों के बीतने से नहीं मापा जाता बल्कि किसी ने क्या किया, क्या महसूस किया , और क्या हांसिल किया इससे मापा जाता है.

– जवाहरलाल नेहरु

अच्छी नैतिक स्थिति में होना कम से कम उतना ही प्रशिक्षण मांगता है जितना कि अच्छी शारीरिक स्थिति में होना.

– जवाहरलाल नेहरु

हम एक अद्भुत दुनिया में रहते हैं जो सौंदर्य, आकर्षण और रोमांच से भरी हुई है. यदि हम खुली आँखों से खोजे तो यहाँ रोमांच का कोई अंत नहीं है.

– जवाहरलाल नेहरु

हम वास्तविकता में क्या हैं वो और लोग हमारे बारे में क्या सोचते हैं उससे कहीं अधिक मायने रखता है.

– जवाहरलाल नेहरु

बिना शांति के , और सभी सपने खो जाते हैं और राख में मिल जाते हैं.

– जवाहरलाल नेहरु

आप तस्वीर के चेहरे दीवार की तरफ मोड़ के इतिहास का रुख नहीं बदल सकते.

– जवाहरलाल नेहरु

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply