Menu
blogid : 319 postid : 2425

सच्चे और रहस्यमयी अपराध पर फिल्म बनाने की होड़

sadhika randhawaफिल्म और अपराध का नाता बहुत ही पुराना है. फिल्मों का इतिहास बताता है कि फिल्म निर्माताओं ने रहस्य, अपराध और अपहरण को लेकर कई सारी फिल्मे बनाई हैं. कुछ इसमें से काल्पनिक रहीं तो कुछ जीवन के वास्तविक घटनाओं पर अधारित. निर्माता-निर्देशकों ने यह पाया है कि इस तरह की फिल्में दर्शकों को काफी पसंद आती हैं इसलिए आज भी वह लगातार इन विषयों पर फिल्में बना रहे हैं.


भंवरी देवी केस की हकीकत

राजनीति के गलियारों में भंवरी का कथित शोषण और फिर हत्या ने राजस्थान की सियासत गरमा दिया था. अब फिल्म निर्माताओं में भंवरी की रहस्यमयी हत्या को लेकर फिल्म बनाने की होड़ मची हुई है. निखिल टोंक इस विषय पर पहले ही फिल्म बना रहे हैं. अब खबर है कि निर्माता रंजीत शर्मा ‘भंवरी का जाल ‘ नाम से फिल्म बनाने के लिए अपनी पूरी टीम के साथ जोधपुर जा पहुंचे हैं. राजस्थान के जेल विभाग ने उन्हें फिल्म बनाने की अनुमति दे दी है. इस फिल्म का निर्देशन राकेश सैनी करेंगे.


खास बात यह है कि जहां निखिल अभी तक भंवरी के किरदार के लिए हीरोइन की तलाश नहीं कर पाए हैं, वहीं रजत की फिल्म में भंवरी का किरदार साधिका रंधावा निभा रही हैं. निखिल अपनी फिल्म के लिए मल्लिका सेहरावत, प्रियंका चोपड़ा और बिपाशा बसु से बात कर रहे हैं. इनमें से कौन भंवरी का किरदार निभाएगा इसका पता कुछ दिनों में चल जाएगा.


और भी फिल्में बनी……….

सच्ची घटनाओं पर आधारित फिल्मों में ‘नो वन किल्ड जेसिका’ भी रही जिसे दर्शकों ने काफी पसंद भी किया. इस फिल्म में रानी मुखर्जी, विद्या बालन के अभिनय को सराहा भी गया. नई दिल्ली के टेमेरिंड कोर्ट में 1999 में मॉडल जेसिका लाल की हत्या तथा उसकी बहन सबरीना लाल की न्याय के लिए लड़ी गई लडाई पर आधारित यह फिल्म भारतीय न्यायपालिका व राजनीतिक प्रणाली में कमियों तथा भ्रष्टाचार व ताकत के गठजोड पर कटाक्ष व उसकी निंदा करती है.


2008 में हुए नीरज ग्रोवर हत्याकांड पर आधारित राम गोपाल वर्मा की चर्चित फिल्म ‘नॉट ए लव स्टोरी’ भी एक सच्ची घटना पर आधारित थी. राम गोपाल वर्मा यह फिल्म मारिया सुसायराज और जेरोम मैथ्‍यू द्वारा किए गए खतरनाक अपराध की कहानी बयां करती है.


इसके अलावा 2003 में बनी प्रकाश झा की फ़िल्म गंगाजल भागलपुर की एक सच्ची घटना पर आधारित थी. जब यह फिल्म बनी तो काफी विवाद भी खड़ा हुआ. भारतीय दर्शकों ने इस फिल्म और अजय देवगन के अभिनय को काफी पसंद किया.


जिस तरह से फिल्म निर्माताओं के अंदर सच्ची घटनाओं पर फिल्म बनाने का धुन सवार है उसे देखकर यही कहा जा सकता है कि आने वाले वक्त में यदि आरुषि हत्याकांड को लेकर फिल्म बनती है तो कोई हैरानी वाली बात नहीं होगी.


सेक्स, साजिश और सियासत की एक और कहानी


Read Hindi News


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *