Menu
blogid : 319 postid : 1398303

लता मंगेशकर को बिना स्कूल गए मिलीं 6 डिग्रियां, परिवार की खातिर शादी नहीं करने का लिया था प्रण

Rizwan Noor Khan

28 Sep, 2020

सुर कोकिला लता मंगेशकर 91 बरस की हो गईं। वह पहली ऐसी गायिका हैं जो बिना स्कूल गए ही दुनिया के नामचीन विश्वविद्यालयों से डिग्री हासिल की है। लता मंगेशकर का जीवन और उनका संघर्ष किसी को भी हौसला देने के लिए काफी है। उन्होंने अपने परिवार के लिए कभी शादी नहीं करने का मन पक्का कर लिया था।

असली नाम हेमा हरिदकर
मध्यप्रदेश में इंदौर शहर के एक समान्य परिवार में 28 सितंबर 1929 को जन्मी हेमा हरिदकर बड़ी होकर लता मंगेशकर के ​नाम से दुनिया में शोहरत कमाएगी यह कभी किसी ने नहीं सोचा था। हेमा के पिता ने अपने गांव मंगेशी के नाम पर बाद में अपने बच्चों का सरनेम मंगेशकर कर दिया। हेमा संगीत की दुनिया में आई तो लता मंगेशकर नाम से जानी गईं। वह जब बहुत छोटी थीं तभी उनके पिता का निधन हो गया और घर की जिम्मेदारी उन पर आ गई।

पिता की मौत से माली हालत बिगड़ी
छोटी बहनों को पढ़ाने के लिए उन्होंने खुद की पढ़ाई नहीं की। उन दिनों में घर की माली हालत ठीक नहीं होने के कारण उन्होंने स्कूल त्याग दिया और घर में ही पढ़ाई करने लगीं। लता मंगेशकर अपने पिता के साथ मराठी संगीत नाटक में पहले से ही काम करती थीं और 14 साल की उम्र में वह बड़े कार्यक्रमों और नाटकों में अभिनय करने लगीं।

प्रेमविवाह के चलते आशा और लता में हो गई अनबन
1942 में लता मंगेशकर के पिता का निधन हुआ था और इसके 7 साल बाद ही जब घर की माली हालत सुधरनी शुरु हुई तो आशा भोंसले ने प्रेम विवाह के लिए घर से बगावत कर दी। लता मंगेशकर अपनी छोटी बहन आशा के व्यवहार से काफी नाराज हुईं और दोनों के बीच दूरियां बढ़ गईं। आशा ने 1949 में गणपतराव भोंसले से शादी कर ली।

परिवार की देखभाल के लिए खुद शादी नहीं की
आशा के शादी कर लेने के बाद फिर से घर की सारी जिम्मेदारी लता मंगेशकर के कंधों पर आ गई। हालांकि, उस वक्त तक लता मंगेशकर काफी प्रसिद्ध हो चुकी थीं, जबकि आशा भोंसले को लोग लता से कमतर आंकते थे। लता मंगेशकर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह परिवार की देखभाल के कारण कभी खुद की शादी के बारे में सोच ही नहीं पाईं।

36 भाषाओं में गाने वाली पहली महिला सिंगर
बाद में लता मंगेशकर देश की सबसे बड़ी प्लेबैक सिंगर बन गईं जो टैग उनसे कभी कोई छीन नहीं सका। लता मंगेशकर ने 1 हजार से ज्यादा हिंदी फिल्मों में गाने गए, जबकि अन्य भाषाओं की फिल्मों की तो वह गिनती तक भूल गई हैं। लता मंगेशकर देशी विदेशी 36 भाषाओं में गाने वाली पहली भारतीय महिला सिंगर हैं।

भारत रत्न समेत दर्जनों अवॉर्ड
बचपन में आर्थिक तंगी के कारण लता मंगेशकर स्कूल भले ही नहीं जा पाई हों, लेकिन उन्होंने अपने टैलेंट की बदौलत न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी समेत 6 विश्वविधालयों से मानक उपाधि जरूर हासिल कर ली। लता मंगेशकर को सर्वोच्च भारतीय नागरिक सम्मान भारत रत्न, पद्म भूषण, पद्मविभूषण, दादा साहब फाल्के अवॉर्ड समेत दर्जनों देसी विदेशी अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है। लता मंगेशकर के नाम से भी कई राज्य संगीत के क्षेत्र में अवॉर्ड प्रदान करते हैं।…NEXT

 

Read More : 16 की उम्र में आशा भोंसले ने कर ली थी शादी

17 साल तक फिल्मों पर राज करने वाली सिल्क स्मिता की मौत अभी भी रहस्य

एक बार गाते थे तो रुकते नहीं थे एसपी बाला सुब्रमण्यम

राधिका आप्टे ने साउथ सुपरस्टार को जड़ा था थप्पड़

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *