Menu
blogid : 319 postid : 2579

Love Stories of Bollywood: कैसे हुआ अजय देगवन को काजोल से प्यार: Kajol and Ajay’s Love story


Ajay-Kajol Profile in Hindi

एक बेहतरीन अभिनेत्री, एक समर्पित पत्नी और जिम्मेदार मां यह सभी गुण अगर किसी एक अभिनेत्री में हैं तो वह हैं काजोल. हिन्दी सिनेमा में काजोल को सुपर मॉम का दर्जा यूं ही हासिल नहीं है. काजोल सुपर मॉम के साथ एक कूल वाइफ भी हैं. काजोल और अजय देवगन की जोड़ी को बॉलिवुड की सफलतम जोड़ियों में से एक माना जाता है. आइए जानते हैं कैसे हुआ काजोल और अजय को एक-दूसरे से प्यार.


Kajol and ajay devganकाजोल और अजय देवगन का प्यार

हिन्दी सिनेमा में यह दो नाम ऐसे हैं जो सिर्फ अपनी फिल्मों के आने पर ही चर्चा में आते हैं और बाकी समय जैसे कहीं छुप जाते हैं. लेकिन एक दौर 90 का भी था जब इन दोनों सितारों के सितारे आसमान पर अपनी चमक बिखेर रहे थे. ऐसे में फिल्मी सेट का साथ शादी के मंडप तक कैसे पहुंचा यह बहुत ही दिलचस्प किस्सा रहा है. पहली बार अजय और काजोल की जोड़ी 1995 में प्रदर्शित फिल्म ‘हलचल’ में नजर आई थी. इसके बाद कई निर्देशकों ने दोनों को एक साथ अपनी फिल्म में साइन किया. अजय देवगन और काजोल की जोड़ी को दर्शकों ने बहुत पसंद किया खासकर गुंडाराज’, ‘इश्क’, ‘प्यार तो होना ही था’, ‘दिल क्या करे’, ‘राजू चाचा’ जैसी फिल्मों में. Read: बॉलिवुड के दूसरे मिस्टर परफेक्टनिस्ट


पर्दे पर साथ-साथ काम करते-करते दोनों की नजदीकियां प्यार में बदल गईं और 1999 में उन्होंने शादी कर ली. आज काजोल और अजय देवगन की जोड़ी बॉलिवुड की बेस्ट जोडियों में से एक मानी जाती है. काजोल आज एक बेटी न्यासा और बेटे युग की मां हैं. अपने बच्चों और परिवार के लिए उन्होंने कई बार अपने कॅरियर में ब्रेक लिया है लेकिन इससे उनके अभिनय में कभी भी कमी नहीं आई.


काजोल को मिले फिल्म फेयर पुरस्कार

  • “दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे” में काजोल ने सिमरन नाम की लड़की का किरदार निभाया था. इस फिल्म के लिए काजोल को पहली बार फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला.
  • इस फिल्म के बाद की कुछ फिल्में फ्लॉप रहीं पर साल 1997 की फिल्म “गुप्त” ने काजोल के कॅरियर को नई ऊंचाई दी. इस फिल्म में काजोल को फिल्मफेयर अवार्ड फॉर बेस्ट परफॉरमेंस इन निगेटिव रोल(Film fare Award for Best Performance in a Negative Role) का खिताब मिला. यह पुरस्कार लेने वाली काजोल पहली अभिनेत्री थीं.
  • फिल्म “कुछ-कुछ होता है” के लिए काजोल को दूसरा फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला.
  • काजोल ने इसके अलावा 2001 में “कभी खुशी कभी गम” की जिसके लिए उन्हें तीसरा फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला.
  • साल 2006 में अपनी बेटी के जन्म के बाद उन्होंने फिल्म “फना” से अपने कॅरियर की दूसरी शुरुआत की और फिल्म में अपने बेहतरीन अभिनय की बदौलत चौथी बार फिल्मफेयर पर कब्जा किया.
  • साल 2010 में शाहरुख खान के साथ “माय नेम इज खान” के लिए भी काजोल को फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला.


Read: काजोल : एक समर्पित अभिनेत्री और पत्नी


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *