Menu
blogid : 319 postid : 1398441

अपनी 9 फिल्में देखे बिना दुनिया छोड़ गए ओमपुरी को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड, फिल्म कांठी बेस्ट फीचर फिल्म

सिनेमाजगत में अभूतपूर्व योगदान देने के लिए और अपने अभिनय से किरदार को जीवंत बना देने के लिए मशहूर अभिनेता ओमपुरी को मरणोपरांत लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। इंडिया इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में मलयालम फिल्म कांठी को बेस्ट फीचर फिल्म का अवॉर्ड भी दिया गया।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 28 Oct, 2020
File photo courtesy : REUTERS

IIFFB 2020 में 110 से ज्यादा फिल्में प्रदर्शित
अमेरिका के बोस्टन में 16 से 18 अक्टूबर को वर्चुअली हुए इंडिया इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल IIFFB 2020 के फिल्म अवॉर्ड की घोषणा कर दी गई है। तीसरी बार आयोजित हुए इस फेस्टिवल में दुनियाभर की अलग अलग 15 भाषाओं की 110 से ज्यादा फिल्मों को प्रदर्शित किया गया।

मलयालम फिल्म कांठी को दो अवॉर्ड
मलयालम फिल्म कांठी को बेस्ट फीचर फिल्म का अवॉर्ड दिया गया। फिल्म की कहानी अंधेपन का शिकार आदिवासी लड़की के इलाज के लिए उसकी मां के संघर्ष को बखूबी लोगों के सामने पेश करती है। मुख्य भूमिका निभाने वाली अभिनेत्री शैलजा पी अंबू को बेस्ट एक्टर फीमेल के लिए चुना गया है। अशोक आर नाथ ने फिलम को डायरेक्ट किया है।

वेटरेन एक्टर विक्टर बनर्जी बेस्ट एक्टर बने
बेस्ट एक्टर मेल का अवॉर्ड दिग्गज अभिनेता विक्टर बनर्जी को फिल्म जोसेफ बॉर्न इन ग्रेस में प्रीस्ट का दमदार किरदार निभाने के लिए दिया गया। कोलकाता में जन्मे विक्टर ने हिंदी, अंग्रेजी, बंगाली, असमी समेत कई भाषाओं की फिल्में कर चुके हैं। वरिष्ठ अभिनेता ने सत्यजीत रे, मृणाल सेन, श्याम बेनेगल और राम गोपाल वर्मा समेत दिग्गज फिल्मकारों के साथ काम किया है।

ईरान की फिल्म को बेस्ट शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड
बेस्ट शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड ईरान की फिल्म बेटर दैन नील आर्मस्ट्रांग को दिया गया। ईरान के मशहूर फिल्मकार अलीरेजा घासेमी की डायरेक्शन में बनी फिल्म को 6.1/10 IMDb रेटिंग मिली हुई है। इसके अलावा फिल्म बैतुल्लाह को की श्रेणी में बेस्ट फिल्म विथ सोशल कॉज का अवॉर्ड दिया गया।

मरणोपरांत लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड
2017 में इस दुनिया को अलविदा कह गए ओमपुरी को भारतीय सिनेमा में अभू​तपूर्व योगदान के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। यह अवॉर्ड ओमपुरी की पत्नी नंदिता पुरी हासिल किया। ओमपुरी 9 फिल्मों में किए गए अपने काम को देख नहीं सके और इनकी रिलीज से पहले ही 66 बरस की उम्र में अंतिम सांस ली। ओमपुरी पद्मश्री समेत दर्जनों पुरस्कार हासिल हो चुके हैं। फिल्मों में निभाए गए किरदारों के जरिए वे हमेशा लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *