Menu
blogid : 319 postid : 1392955

कभी ढाबे पर नौकरी तो कभी बीनना पड़ा था कोयला, ये हैं ओमपुरी की लाइफ के किस्से

Shilpi Singh

18 Oct, 2018

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड जगत तक अपने हुनर का लोहा मनवा चुके दिग्गज एक्टर ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1950 को हुआ था। आज अगर वे हमारे बीच होते तो अपना 68वां बर्थडे मना रहे होते। अंबाला में जन्मे ओम पुरी को तंगहाली के कारण होटल में झूठे बर्तन धोने पड़े थे। उनको गुजर-बसर करने के लिए कोयला भी बीनना पड़ा था। आइए इस मौके पर जानते हैं ओम पुरी से जुड़े कुछ अनसुने किस्से।

 

 

 

बचपन में की ढाबे पर नौकरी

 

om_

 

हरियाणा के अंबाला में जन्में ओम पुरी का बचपन काफी कष्टों में बीता। परिवार का खर्च उठाने के लिए उन्हें एक ढाबें में नौकरी तक करनी पड़ी थी। ढाबें में वो बर्तन धोने का काम करते थे, लेकिन कुछ दिनों बाद ढाबे के मालिक ने उन्हें चोरी का आरोप लगाकर हटा दिया था।

 

ट्रेन ड्राइवर बनना चाहते थे ओम

 

cover om puri

 

ओम बचपन में जिस घर में रहते थे, वहां से कुछ दूरी पर एक रेलवे यार्ड हुआ करता था। ओम जब भी कभी परेशान या फिर उदास होते तो, वहीं जाकर सो जाते थे या फिर वहीं रहते थे। उन दिनों उन्हें ट्रेन से काफी लगाव था और वह सोचा करते कि बड़े होकर रेलवे ड्राइवर बनेंगे।

 

नाटकों में हिस्सा लेने लगे

 

ompuri

 

ओम अपनी पढ़ाई करने के लिए पटियाला चले गए, यहां पर उनका रूझान अभिनय की ओर हो गया और वह नाटकों में हिस्सा लेने लगे। यहीं पर उन्हें एक वकील के घर पर दूसरी नौकरी मिली, लेकिन नाटक में हिस्सा लेने के कारण वह वकील के यहां काम पर नहीं गए, जिस वजह से उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया।

 

निजी थिएटर ग्रुप “मजमा” की स्थापना की

 

om2

 

ओम पुरी ने पुणे फिल्म संस्थान से अपनी पढ़ाई खत्म की और लगभग डेढ़ वर्ष तक एक स्टूडियो में अभिनय की शिक्षा दी। बाद में ओम पुरी ने निजी थिएटर ग्रुप ‘मजमा’ की स्थापना की। ओम पुरी ने अपने फिल्मी कॅरियर की शुरुआत फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से की थी।

 

इस फिल्म से मिली खास पहचान

 

 

‘आक्रोश’ ओम पुरी के लिए एक वरदान बनकर आई। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए ओम पुरी बेहतरीन सहायक अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किए गए। उसके बाद ओम ने कई सफल फिल्मों में काम किया, साथ ही छोटे पर्दे पर भी अपना जलवा बिखेरा।

 

जीत चुके हैं नेशन अवॉर्ड

 

OMPURI1

 

ओम पुरी को फिल्म ‘आरोहण’ और ‘अर्ध सत्य’ के लिए बेस्ट एक्टर का नेशनल अवार्ड भी मिला और एक इंटरव्यू के दौरान ओम पुरी ने कहा, ‘अमिताभ बच्चन महान एक्टर हैं और मैं उनका शुक्रगुजार हूं क्योंकि उन्होंने ‘अर्ध सत्य’ फिल्म करने से इंकार कर दिया था।

 

हॉलीवुड का सफर

 

 

ओमपुरी ने बॉलीवुड के अलावा हॉलीवुड की ‘ईस्ट इज ईस्ट’, ‘सिटी ऑफ जॉय’, ‘वुल्फ’ जैसे फिल्मों में काम किया। इन फिल्मों में उन्होंने लीड रोड प्ले किए थे।

 

विवादों में रही लाइफ

 

om wifes

 

ओम पुरी ने पहली शादी सीमा से की, जिनसे उनका रिश्ता ज्यादा दिन नहीं रहा।. 1983 में नंदिता पुरी से दूसरी शादी की और 2016 में दोनों अलग-अलग हो गए, दोनों का एक बेटा ईशान है। ओम पुरी की 06 जनवरी 2017 को 66 साल उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।….Next

 

Read More:

16 साल की उम्र में हेमा ने किया था डेब्यू, करोड़ों की मालकिन हैं ड्रीम गर्ल

बिग बॉस 12: श्रीसंत की एक्स गर्लफ्रैंड का खुलासा, शादी से पहले लिव में रह चुके हैं क्रिकेटर

#MeToo इन 11 फिल्ममेकर्स का फैसला, हैरेसमेंट के आरोपियों के साथ नहीं करेंगी कभी काम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *