Menu
blogid : 319 postid : 1399770

40 की उम्र में बॉलीवुड डेब्यू करने वाले अमरीश पुरी की रोचक दास्तां, 350 से ज्यादा फिल्में और कई अवॉर्ड

अपने दमदार अभिनय की बदौलत लोगों के दिलों में जगह बनाने वाले अमरीश पुरी के एक्टिंग करियर शुरुआत आसान नहीं रही। पहले स्‍क्रीन टेस्‍ट में फेल होने के बाद वह सरकारी नौकरी करने लगे थे। 21 साल नौकरी करने के बाद वह फिर से वह बॉलीवुड की तरफ बढ़े और करीब 40 साल की उम्र में उन्‍हें फिल्‍म प्रेम पुजारी में पहली बार रोल मिल गया। 22 जून को अमरीश पुरी की बर्थ एनीवर्सरी के मौके पर जानते हैं उनकी जिंदगी के बारे में।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 22 Jun, 2021

 

 

पढ़ाई के साथ थिएटर से जुड़े
पंजाब के नवांशहर में 22 जून 1932 को जन्मे अमरीश लाल पुरी ​शुरुआत से ही फिल्मों के दीवाने थे। पढ़ाई में अव्वल रहने वाले अमरीश पुरी ने शिमला के बीएम कॉलेज से ग्रेजुएशन किया। इस दौरान उनके बड़े भाई चमन पुरी और मदनपुरी बॉलीवुड में अच्‍छा-खासा नाम बना चुके थे। पढ़ाई के दौरान ही अमरीश पुरी थिएटर से जुड़ गए और फिल्‍मों में जाने की तैयारी करने लगे।

पहले स्‍क्रीन टेस्‍ट में फेल हुए
साल 1950 में वह बॉलीवुड फिल्‍म के स्‍क्रीन टेस्‍ट देने गए, लेकिन उसमें फेल हो गए। इसके बाद उन्‍होंने दोस्‍तों और घरवालों की सलाह पर राज्‍य बीमा निगम में नौकरी करने लगे। इस दौरान वह थिएटर से जुड़े रहे। नाटकों में उनके अभिनय को खूब प्रशंसा मिलती थी। इस बीच अमरीश पुरी ने नौकरी छोड़ पूरा समय फिल्मों को देने के लिए सोचने लगे। लेकिन, उनके करीबियों ने फिल्म मिलने तक नौकरी नहीं छोड़ने की सलाह दी।

देवानंद ने दिया फिल्‍म में मौका
साल 1970 में देवानंद और वहीदा रहमान की फिल्‍म प्रेम पुजारी रिलीज हुई। इस फिल्‍म में अमरीश पुरी को पहली बार साइन किया गया। तबतक अमरीश पुरी करीब 40 की उम्र के आसपास पहुंच गए थे। ऐसे में उन्‍हें रोल मिलने कम हो गए। लेकिन, 1971 मेंआई फिल्म रेशमा और शेरा के लिए ऑफर मिल गया। फिल्म मिलते ही अमरीश पुरी ने अपनी करीब 21 साल की सरकारी नौकरी से इस्तीफा दे दिया। रेशमा और शेरा फिल्म में सुनील दत्त, विनोद खन्ना, अमिताभ बच्चन और वहीदा रहमान के साथ काम अमरीश पुरी ने काम किया।

बॉलीवुड के सुपरहिट विलेन
बॉलीवुड में एक बार कदम रखने के बाद अमरीश पुरी ने की पीछे मुड़कर नहीं देखा। 1987 में शेखर कपूर की फिल्म मिस्टर इंडिया में उनके किरदार मोगैंबो ने दुनियाभर में अपनी छाप छोड़ी। इससे पहले वह 1984 में हॉलीवुड के मशहूर निर्देशक स्‍टीवन स्पीलबर्ग की फिल्म इंडियाना जोंस में जबरदस्‍त भूमिका निभाई। उन्‍हें फिल्मी दुनिया के सबसे बड़े विलेन के तौर पहचान मिली। एक समय ऐसा आया कि वह हीरो से भी ज्यादा फीस लेने वाले एक्टर बन गए।


350 से ज्यादा फिल्में और ढेरों अवॉर्ड

अमरीश पुरी ने करीब 40 साल के अपने करियर में 350 से ज्यादा फिल्में कीं। अमरीश पुरी ने जिन फिल्‍मों में विलेन की भूमिका निभाई वह खूब चलीं। बाद के वर्षों में उन्‍होंने अच्‍छे पुलिस इंस्‍पेक्‍टर और पिता की सफल भूमिकाएं भी कीं। हिंदी, अंग्रेजी समेत कई भाषाओं में फिल्‍में करने वाले अमरीश पुरी को 1998 तक 7 से ज्‍यादा फिल्‍म अवॉर्ड मिल चुके थे। 12 जनवरी 2005 को अमरीश पुरी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।….Next

 

 

ये भी पढ़ें –

दिलीप कुमार की टॉप-10 हाईएस्‍ट रेटिंग वाली फिल्‍में

बेल बॉटम मूवी के साथ जुलाई में आएंगी ये 7 नई फिल्में

अपनी हिट फिल्म का डायरेक्टर्स कट बनाना चाहता है ये निर्देशक

यूके एशियन फिल्म फेस्टिवल में 3 भारतीयों का जलवा

सूर्या की फिल्म ने रचा इतिहास, दुनिया की तीसरी हाईएस्ट रेटिंग वाली मूवी बनी

‘खलनायक’ की बेटी को दिल दे बैठे थे शरमन जोशी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *