Menu
blogid : 319 postid : 987

अभिषेक बच्चन : बड़े नवाब के छोटे शहजादे

बॉलिवुड में पिता का नाम लेकर आगे बढ़ना अकसर आसान माना जाता है लेकिन ऐसा है नहीं. आपके अपने नाम के मुताबिक काम करने का अतिरिक्त बोझ होता है. कई बार अभिनेता अपने पिता या किसी बड़े के नक्शेकदम पर बॉलिवुड में आगे की राह पर निकल तो पड़ते हैं पर उन्हें असफलताओं का दौर देखने के बाद वापस मुड़ना पड़ता है. लेकिन इसके कुछ अपवाद भी हैं और इसमें से ही एक हैं अभिषेक बच्चन. अपने पिता अमिताभ बच्चन की तरह वह तो सुपरहिट नहीं हो पाए लेकिन तमाम मुश्किलों और असफलताओं के बाद भी वह आगे बढ़ रहे हैं.


Abhishek_Bachchanअभिषेक बच्चन का जन्म 5 फरवरी 1976 को हुआ था. बच्चन परिवार की पंरपरा को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने भी कला को अपना मार्ग चुना. पिता अमिताभ बच्चन और मां जया बच्चन के साए में उनका बचपन बीता. शुरुआती पढ़ाई मुंबई में पूरी करने के बाद वह विदेश आगे की पढ़ाई के लिए चले गए. इस दौरान अमिताभ ने अपने कॅरियर में कई मील के पत्थर खड़े किए और सफलता के शिखर पर जा पहुंचे.


अभिषेक बच्चन को बॉलिवुड में लाने में एक बड़ा हाथ उनके पिता अमिताभ बच्चन का माना जाता है लेकिन इसमें उनकी मेहनत को भी नकारा नहीं जा सकता. 2000 में उन्होंने फिल्म “रिफ्यूजी” से अपने कॅरियर की शुरुआत की. फिल्म फ्लॉप रही पर सबने अभिषेक बच्चन  के अभिनय की सराहना की. हालांकि इसके बाद उन्होंने कई फिल्में कीं जो पर्दे पर सफल तो नहीं रहीं पर लोगों को अभिषेक ने अपने अभिनय से हमेशा आकर्षित किया. 2003 में आई फिल्म ‘मैं प्रेम की दीवानी हूं’ में उन्हें पहली बार फिल्मफेयर सह अभिनेता के लिए नामांकित किया गया. और इसके अगले ही वर्ष 2004 में फिल्म युवा में उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवार्ड प्राप्त हुआ. 2005 उनके लिए खुशियों की सौगात लेकर आया जब उन्होंने चार हिट फिल्में दीं. बंटी और बबली, सरकार, दस और ब्लफ मास्टर की सफलता को ज्यादा दिनों तक अभिषेक भुना नहीं पाए. पर 2006 में फिल्म “कभी अलविदा ना कहना” के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवार्ड मिला. इस तरह लगातार तीन साल बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का खिताब जीत अभिषेक बच्चन ने काबिलियत को दर्शा दिया. अभिषेक ने गुरु, सरकार, बंटी बबली और धूम जैसी सफल फिल्मों में बेहतरीन काम किया है.


साल 2007 उनके लिए और भी कई खुशियां लेकर आया. करिश्मा कपूर से सगाई टूटने के बाद 20 अप्रैल 2007 को अभिषेक बच्चन ने ऐश्वर्या राय से विवाह किया. अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या बच्चन को आज लोग भारत की सबसे बेहतरीन शादीशुदा जोडियों में से एक मानते हैं.

हालांकि ऑन-स्क्रीन दोनों की जोड़ी ने सिर्फ गुरु में ही कमाल किया. हाल ही में रिलीज हुई रावण में दर्शकों ने अभिषेक-ऐश्वर्या को जोड़ी को एक सिरे से नकार दिया. अभिषेक बच्चन जितना अपनी फिल्मों के लिए चर्चा में रहते हैं उतना ही वह अपने सामाजिक कार्यों, पार्टी और समारोहों के लिए भी खबरों में रहते हैं.


हमें उम्मीद है जैसे अमिताभ बच्चन ने अपनी शुरुआती दौर में असफलता के बाद सफलता के शिखर तक का सफर तय किया था उसी तरह अभिषेक बच्चन भी अपनी गलतियों को सुधारते हुए और अपने अभिनय में अधिक मेहनत करके अच्छा काम करेंगे.


अभिषेक बच्चन की ज्योतिषीय विवरणिका देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *