Menu
blogid : 6683 postid : 1304147

चलो अब डर को ऐसे मात दें…..

ओपन हार्ट
ओपन हार्ट
  • 87 Posts
  • 260 Comments

चलो अब डर को ऐसे मात दें
बिखरते हौसलों का साथ दें
जिन्हें जब भी जरुरत हो जहाँ पर
उन्हें बढ़ करके अपना हाँथ दें

हुनर से रात में चलना पड़ेगा
अँधेरे सा हमें ढलना पड़ेगा
बहुत सूखा है मंज़र आसमाँ का
चलो मिलकर के कुछ बरसात दें

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply