Menu
blogid : 3738 postid : 699943

अगर कुछ बनना है तो गुलाब का फूल बनो

Special Days

  • 1021 Posts
  • 2135 Comments

‘अगर कुछ बनना है तो गुलाब का फूल बनो,

क्योंकि ये फूल उसके हाथ में भी खुशबू छोड़ देता है,

जो इसे मसल कर फेंक देता है.’


अपनी रूमानी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए लाल रंग एक पसंदीदा रंग माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि ‘रोज डे’ के अवसर पर यदि आप अपने दोस्त को गुलाब का फूल देते हैं तो यह प्रेम के लिए सही शुरुआत होती है.


rose flower 10हर साल 07 फरवरी को ‘रोज डे’ मनाया जाता है. इस दिन प्यार करने वाले दो दिल एक-दूसरे को गुलाब का फूल भेंट कर अपनी भावनाओं का इजहार करते हैं. अलग-अलग रंगों के गुलाब युवाओं को अपनी अलग-अलग भावनाएं जताने का मौका देते प्रतीत होते हैं. वैलेंटाइन वीक को लेकर मुहब्बत की चाहत रखने वालों को तो इन सात दिनों का बेसब्री से इंतजार रहता है और इन सात दिनों की शुरुआत रोज डे से होती है. अगर आपने भी किसी को दिल दिया है, तो यह अच्छा मौका है कि आप उसे गुलाब का फूल भेंट कर अपने दिल की बातों को जुबान पर लाएं.


Read more: नादान पर बदनाम क्रिकेटर


हर रिश्ते के लिए है अलग गुलाब

लाल गुलाब प्रेम का प्रतीक माना जाता है इसलिए रोज डे पर सबसे ज्यादा लोग लाल गुलाब के लिए ही बेताब दिखते हैं लेकिन इसके अलावा और भी कई गुलाब हैं जो समय और परिस्थिति को ध्यान में रखकर दिए जाते हैं.


अगर किसी से दोस्ती की शुरुआत करनी है तो आप उसे पीला गुलाब देकर अपना भाव प्रकट करें और प्यार का इजहार करना हो तो लाल गुलाब का तोहफा दें. गुलाब का फूल सुख-शांति का भी प्रतीक माना जाता है इसलिए निश्चित रूप से गुलाब की भेंट पाकर कोई भी बैर-भाव भुला सकता है. सफेद गुलाब यूं तो बहुत ही मुश्किल से मिलता है लेकिन इसका प्रयोग कर आप ऐसी लड़की से माफी मांग सकते हैं जिससे आपकी कभी लड़ाई हुई हो.


वैलेंटाइन डे के अवसर पर पूरी दुनिया में गुलाब की बिक्री बढ़ जाती है. यह जानकर आपको हैरानी होगी कि दुनिया के कई देशों में गुलाब का निर्यात कर्नाटक से होता है. इस साल के वैलेंटाइन डे पर अनुमान लगाया जा रहा कि विश्वभर में पांच मिलियन गुलाब का निर्यात किया जाएगा. सात दिनों तक चलने वाले प्रेम के इस त्यौहार में सबसे ज्यादा गुलाब अमरीका में बिकते हैं.


Read more:

जाने कब कौन जिंदगी का हिस्सा बन जाए

उस अधूरे प्रेम पत्र को करें पूरा

प्रेम एक पावन बंधन


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *