Menu
blogid : 3738 postid : 628281

सनी देओल: न डांस न रोमांस सिर्फ ‘एक्शन’

Special Days

  • 1021 Posts
  • 2135 Comments

हिंदी सिनेमा में ऐसे कई अभिनेता है जिनकी छवि एक खास चरित्र के लिए बनी हुई है. दर्शक भी उन्हें लगातर उसी चरित्र में देखना चाहते हैं. अगर वह अभिनेता कुछ अलग हटकर करना चाहे तो दर्शक उन्हें उस रूप में स्वीकार नहीं कर पाते. हिंदी सिनेमा के एक्शन हिरों सनी देओल (Sunny Deol) भी ऐसे ही एक अभिनेता है जिन्हें लोग 57 साल की उम्र में भी मारधाड़ करने वाले हिरों के रूप में देखना चाहते हैं. उनकी आने वाली फिल्म ‘सिंह साहब द ग्रेट’  इसी तरह की फिल्म है. यह फिल्म 22 नवंबर को प्रदर्शित होगी.


sunny-deolइस उम्र में भी हिरो

आज की बॉलिवुड में एक्शन हीरो की जगह चॉकलेटी हीरो को तरजीह दी जाती है वहां सनी देओल जैसे अभिनेताओं को नकार दिया जाता है. अगर हाल की एक-दो फिल्मों को छोड़ दें तो सनी देओल (Sunny Deol)फिल्मी पर्दे से पूरी तरह गायब हो चुके हैं. इसके पीछे शायद सनी देओल (Sunny Deol) की उम्र और कुछ हद तक एक तरह की फिल्मों में काम करना हो सकता है. फिर भी वह इस उम्र में भी निर्देशकों की पसंद बने हुए हैं जो काबिल-ए-तारीफ है.


Read: ‘आप’ यहां आए किसलिए…


हिंदी सिनेमा में हमेशा से ही उन अभिनेताओं को ज्यादा तरजीह दी जाती रही है जो डांस और रोमांस के अलावा थोड़ी बहुत कॉमेडी कर सके लेकिन सनी देओल (Sunny Deol) उन अभिनेताओं में से है जो एक ही ढर्रे पर चलकर अपने काबलियत को साबित कर चुके है. एक समय था जब बॉलिवुड में सन्नी देओल एक्शन फिल्मों के पर्याय बन चुके थे. अपने सफल कॅरियर में सन्नी देओल ने बॉर्डर, गदर, दामिनी, घातक, घायल, अर्जुन, जिद्दी, जीत जैसी फिल्में की हैं.


दमदार डायलॉग डिलीवरी-Sunny Deol Dialogues Delivery

दामिनी, घायल और गदर जैसी फिल्मों के माध्यम से सनी देओल (Sunny Deol)ने खुद को हिन्दी सिनेमा में एक एक्शन हीरो की तरह पेश किया है. उनकी दमदार एक्शन फिल्मों की सबसे बड़ी खासियत रही उनके दमदार डायलॉग. उनके कुछ बेहद दमदार डायलॉग रहे:


Read: क्या ‘फुकरे’ बाबा का सपना सच होगा


फिल्म दामिनी (Damini): तारीख पर तारीख, तारीख पर तारीख..

फिल्म दामिनी(Damini): यह ढाई किलो का हाथ जब किसी पर पड़ता है ना तो वह उठता नहीं उठ जाता है..

फिल्म घातक (Ghaatak) : अगर सातो एक ही बाप के हैं तो रुक नहीं तो कसम गंगा मैया की…घर में घुस कर मारूंगा, सातो को एक साथ मारुंगा…

फिल्म जीत (Jeet): काजल तुम मेरी हो..इन हाथों ने हथियार छोड़े हैं.. उन्हें चलाना नहीं भूले हैं.. अगर इस चौखट पर बारात आई तो डोली की जगह अर्थिया उठेंगी.. लाशें बिछा दूंगा लाशें…

फिल्म गदर (Gaddar): आपका पाकिस्तान जिंदाबाद है… इसमें हमें कोई ऐतराज नहीं लेकिन हमारा हिन्दुस्तान जिंदाबाद था… जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा..

कॉमेडी में भी एक्शन

हाल में ही सनी देओल (Sunny Deol) की कुछ कॉमेडी फिल्में आई. इसमे यमला पगला दीवाना प्रमुख थी. निर्देशकों ने उनकी एक्शन छवि को देखते हुए उनकी कॉमेडी में भी एक्शन के पुट डाले. जिन्हें दर्शकों ने काफी पसंद किया.


Read More:

Sunny Deol Profile in Hindi

आर्ट फिल्मों से घर नहीं चलता


Sunny Deol as Action Hero

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *