Menu
blogid : 3738 postid : 989

कैटरीना कैफ : आकर्षक खूबसूरती और हुस्न की बार्बी डॉल

Special Days

  • 1020 Posts
  • 2122 Comments

katrina kaifबॉलिवुड में हमेशा से ही पुरुष एक्टरों का दबदबा रहा है. लेकिन कई बार पुरुषों के इस दबदबे को अभिनेत्रियों ने जरूर कड़ी टक्कर दी है. हाल के कुछ सालों में बॉलिवुड पर खान बंधुओं और बच्चन परिवार का ही दबदबा रहा है. लेकिन ऐसे में एक हिरोइन ऐसी भी है जिसने देश के सभी सिनेप्रेमियों को अपना दीवाना बनाया है. कैटरीना कैफ ने बॉलिवुड में आज वह मुकाम बनाया है जहां से सफलता उनके कदम चूमती है.


विदेश से आने के बाद भी कैटरीना कैफ ने हिन्दी फिल्मों में काफी लोकप्रियता हासिल की है. मॉडलिंग इंडस्ट्री में अपनी खूबसूरती और ग्लैमर का परचम लहराने वाली लंदन की इस खूबसूरत बाला ने जब हिन्दी फिल्मों में कदम रखा तो उनकी सफलता को लेकर अटकलें लगाई गईं. लेकिन थोड़ा लड़खड़ाने के बाद आज वह निर्माताओं के लिए मनी बैंक बन चुकी हैं.


कैटरीना कैफ का जीवन


16 जुलाई, 1984 को हॉगकॉग में जन्मी, कैटरीना कैफ कश्मीरी पिता और ब्रिटिश मां की बेटी हैं. बचपन में ही उनके माता पिता का तलाक हो गया था. लंदन में रहते हुए ही कैटरीना कैफ ने मॉडलिंग शुरु की. बचपन में घरेलू वजहों से उनकी पढ़ाई अलग-अलग जगह हुई.


कैटरीना कैफ का कॅरियर


14 साल की उम्र में ही कैटरीना कैफ ने गहनों की एक कंपनी के लिए मॉडलिंग करना शुरु कर दिया था. लंदन और हवाई द्वीप में पली-बढ़ी कैटरीना अंतरराष्ट्रीय स्तर की मॉडल भी रह चुकी हैं. जब उन्हें भारत से मॉडलिंग के ऑफर्स आने लगे तो उन्होंने भारत आने का फैसला किया और उसके बाद तो वे यहीं की होकर रह गयीं. कैटरीना कैफ को हिन्दी फिल्मों में लाने के पीछे सलमान खान का बहुत बड़ा हाथ था. एक समय ऐसा था जब सलमान खान ने बॉलिवुड में अपनी पहुंच से कैटरीना को कई अहम फिल्में दिलवाई.


कैट की बॉलिवुड में पहली फिल्म 2003 में रिलीज हुई ‘बूम’ थी. यह फिल्म फ्लॉप रही थी. इस फिल्म में कैटरीना कैफ ने जमकर अंग प्रदर्शन किया था. इस फिल्म की असफलता के बाद कई फिल्मकारों ने कैटरीना से मुंह मोड़ लिया था पर सलमान खान की वजह से उन्हें फिल्में मिल ही गई.


2005 में राम गोपाल वर्मा ने ‘सरकार’ बनाई तो इसमें उन्होंने कैटरीना को भी लिया. कैटरीना ने इस फिल्म में अभिषेक बच्चन की प्रेमिका की छोटी सी भूमिका में बड़े निर्माता-निर्देशकों का ध्यानाकर्षण किया. लेकिन उन्हें असली सफलता मिली डेविड धवन की ‘मैनें प्यार किया’ से जिसमें उनके साथ सलमान खान थे. कहते हैं कैटरीना को इस फिल्म में काम सलमान की वजह से ही मिला था. फिल्म हिट रही थी और फिल्मकारों ने कैटरीना की भाषाई दिक्कत को दरकिनार कर उन्हें काम देना शुरु कर दिया.


2006 मे कैटरीना कैफ ने अक्षय कुमार के साथ ‘हमको दिवाना कर गए’ की. फिल्म सुपरहिट रही और इसके बाद तो जैसे पर्दे पर अक्षय और कैटरीना की जोड़ी सुपरहिट बन गई. ‘नमस्ते लंदन’, ‘वेलकम’ और् ‘सिंह इज किंग’ की जो सुपरहिट फिल्में साबित हुई.


2010 में आई फिल्म ‘राजनीति’ को कैटरीना कैफ की अब तक की सबसे सफल फिल्म मानी जाती है. ‘राजनीति’ में कैटरीना की अदाकारी को सबने सराहा. हाल ही में कैटरीना की ‘जिंदगी ना मिलेगी दुबारा’ रिलीज हुई जिसके हिट होने की पूरी संभावना है.


कभी हिन्दी ना आने की वजह से निर्माता उन्हें अपनी फिल्मों में लेने से मना करते थे पर आज कैटरीना सफलता का दूसरा नाम बन चुकी हैं.

हल्की सी हंसी, चुलबुलापन और परियों जैसा सौन्दर्य कैटरीना की लोकप्रियता को और भी बढ़ाता है. साथ ही सलमान खान से उनकी नजदीकियों ने भी उन्हें बहुत शोहरत दिलाई है. हालांकि दोनों कभी साथ तो कभी अलग-अलग दिखते हैं, पर कैटरीना अपने प्रोफेशन को अपनी पर्सनल लाइफ से अलग रख लगातार कामयाबी हासिल कर रही हैं.


कैटरीना और सलमान खान


कहते हैं बॉलिवुड में सलमान जिस भी अभिनेत्री को दिल से चाहते हैं या उसकी मदद करते हैं वह उन्हें जरुर छोड़ देती हैं. ऐसा ही कुछ कैटरीना कैफ के साथ हुआ. जिस सलमान ने उन्हें बॉलिवुड में स्थापित होने के लिए मदद की उन्हें ही कैटरीना ने छोड़ दिया. अपने और सलमान के बीच सिर्फ दोस्ती का रिश्ता बताने वाली कैटरीना ने कई बार यह दिखाया कि सलमान और वह अलग अलग हैं. हालांकि खुद सलमान भी कई बार कह चुके हैं कि वह और कैटरीना सिर्फ दोस्त हैं पर अफवाहों के बाजार में तो दोनों के बीच काफी कुछ है.


कैटरीना कैफ और अवार्ड

कैटरीना कैफ को फिल्म ‘न्यूयार्क’ के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड के लिए चुना गया था. साथ ही वह तीन बार आइफा में भी सर्वश्रेष्ट अभिनेत्री के लिए नामांकित हो चुकी हैं.


‘तीसमार खां’ और ‘दे देना दन’ जैसी फ्लॉप फिल्में करने के बाद उम्मीद है कैटरीना अब हर फिल्म को सोच समझ कर ही लेंगी. आने वाले समय में कैटरीना की कई फिल्में आने वाली हैं जिनसे उनके प्रशंसकों को काफी उम्मीदें हैं.


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *