Menu
blogid : 7002 postid : 1391261

इंग्लैंड से करारी हार के बाद भारत को करना होगा इन कमियों पर काम

Shilpi Singh

12 Sep, 2018

भारतीय टीम पांचवे टेस्ट मैच में भी हार गई, केएल राहुल के 149 रन और ऋषभ पंत के 114 रन भी भारत को इस हार से नहीं बचा सके। ओवल टेस्ट में टीम के पास आखिरी मौका था जीत हासिल करने का लेकिन बल्लेबाजों की नाकामी से टीम हार गई। ऐसे में चलिए एक नजर डालते हैं भारत की कुछ खामियों पर जिनपर लगातार उठ रहे हैं सवाल।

 

 

प्रैक्टिस मैच में ढीली रही टीम

भारतीय टीम ने हर मैच से पहले प्रैक्टिस मैच पर जोर नहीं दिया, चाहे वो वनडे हो या फिर टेस्ट मैच। कई बार टीम मैच के बाद मिल रहे गैप में आराम करती दिखी और टेस्ट मैचों में भारतीय बल्लेबाजों में प्रैक्टिस की कमी साफ नजर आई। इंग्लैंड के मैदान पर खेलने से पहले भारतीय टीम को प्रैक्टिस मैच पर ध्यान देना चाहिए था और इसकी वजह से टीम और कोच को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है।

 

 

बैटिंग ऑर्डर बुरी तरह रहा फ्लॉप

जहां एक तरफ इंग्लैंड के निचले क्रम और मिडल ऑर्डर ने बेहतरीन खेल दिखाया वहीं, भारतीय टीम के बल्लेबाज फेल होते नजर आए। रहाणे,पुजारा और पंड्या भी टीम को मजबूती नहीं दिला सके मिडल ऑर्डर पर।

 

 

हार्दिक पांड्या हो रहे हैं फ्लॉप

भारतीय टीम ने हार्दिक पांड्या को टी20 से लेकर टेस्ट टीम तक कई मौके दिए लेकिन वो हर बार फ्लॉप होते रहे। टेस्ट क्रिकेट में हार्दिक बुरी तरह फेल नजर आए। नॉटिंघम टेस्ट के अलावा वो किसी टेस्ट में कमाल नहीं कर पाए। निचले क्रम में बल्लेबाजी कर रहे पांड्या बुरी तरह फेल रहे।

 

 

स्पिन खेलने में फेल रही टीम

जहां एक तरफ भारतीय टीम को स्पिन खेलने में माहिर मानी जाती है वहीं, इंग्लैंड के मैदान में फिरकी में फंसती नजर आई। भारतीय बल्लेबाज इंग्लैंड के स्पिनर्स खास तौर पर आदिल रशीद के सामने काफी असहज नजर आए। मोईन अली भी ने भी अपनी गेंद से सबको परेशान किया।

 

 

टॉप ऑडर हुआ फेल

भारतीय टॉप ऑर्डर इंग्लैंड में बुरी तरह नाकाम रहा, केएल राहुल, मुरली विजय और धवन हर मैच में फेल रहे। भले ही आखिरी टेस्ट में राहुल का बल्ला चला लेकिन वो प्रर्दशन टीम को जिताने के लिए काफी नहीं रहा था। धवन और विजय ने एक बार भी अर्धशतक तक नहीं पहुंचे, ऐसे में जाहिर है कि भारत का टॉप ऑर्डर हर बार फेल रहा।

 

 

टीम के चुनाव में हुई गलतियां

वैसे तो विराट कोहली जब से कप्तान बने हैं वो हर बार अपनी टीम में कोई न कोई बदलाव करते ही रहते हैं। लेकिन इस बार टीम चुनाव पर कई बार सवाल उठे। खासकर तब जब अश्विन को चोट के बावजूद खिलाया गया और सलामी जोड़ी के लगातार फेल हो जाने के बावजूद आखिरी दो टेस्ट मैचों में युवा पृथ्वी शॉ को मौका नहीं दिया गया।…Next

 

Read More:

आखिरी टेस्ट में कप्तान कोहली देंगे इन तीन खिलाड़ियों को मौका!

सिर्फ कप्तान कोहली पर निर्भर है पूरी भारतीय टीम, ये खिलाड़ी इंग्लैंड में हुए फेल

सबसे तेज 50 शतक लगा चुके हैं ये क्रिकेटर, लिस्ट में भारतीयों का भी जलवा

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *