Menu
blogid : 7002 postid : 1378192

टी20 विजेता से लेकर साल 2011 का विश्व कप, ये हैं धोनी की कप्तानी के सबसे खास पल

महेंद्र सिंह धोनी भले ही अब भारतीय टीम के कप्तान न रहे हों, लेकिन उन्होंने जो यादगार पल भारतीय टीम को दिए हैं वो हमेशा सबको याद रहेंगे। झारखंड के छोटे से शहर रांची से जो लड़का भारतीय टीम में खेलने का सपना लेकर निकला था वह एक दिन भारत का कप्तान बनेगा यह शायद किसी ने नहीं सोचा होगा। धोनी ने नौ साल तक भारतीय टीम के कप्तान का पद संभाला है और इस दौरान धोनी के करियर के पांच खास पलों की जब उन्होंने दर्शकों को अचंभित तो किया लेकिन खुशी से।


cover ms


1. 2007 टी20 विश्व कप

2007 वनडे विश्व कप हारने के बाद आईसीसी ने टी20 विश्व कप की घोषणा की। भारतीय टीम एक नए युवा टीम के साथ उतरने वाली थी और इस टीम का नेतृत्व कर रहे थे महेंद्र सिंह धोनी। भारत इस विश्व कप के फाइनल में पाकिस्तान के साथ खेलने उतरा, आखिरी ओवर में जोगिंदर शर्मा ने मिस्बाह को आउट करके भारत के विश्व विजेता बना दिया। भारतीय क्रिकेट के इतिहास में यह एक खूबसूरत पल था और यहीं से सभी को धोनी में भारतीय टीम का भविष्य दिखाई दिया।




ms dhoni




2. 2008 कॉमनवेल्थ ट्राई सीरीज

भारतीय टीम का कप्तान बनने के बाद धोनी के केवल घरेलू मैदान पर ही नहीं बल्कि विदेशी धरती पर ही भारत को कई खिताब जिताए हैं उनमें से ही एक है साल 2008 की कॉमनवेल्थ बैंक ट्राई सीरीज। पहले फाइनल में भारत ने रनों का पीछा करते हुए छह विकेट से जीत हासिल की थी। वहीं दूसरा फाइनल भारत ने 9 रन से जीता था।


commenwelathbank


3. 2010 एशिया कप फाइनल

पहला आईसीसी टी20 विश्वकप जीतने के बाद, भारत ने भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 268 रन बनाए वहीं धोनी ने 38 रनों की पारी खेली। जवाब में श्रीलंका टीम केवल 187 रनों पर ऑल आउट हो गई। भारत ने अपनी पहली दोनों हार का बदला ले लिया और एशिया कप पर कब्जा किया।


Sri Lanka India Cricket

4. 2011 विश्व कप

भारतीय टीम को इस बार 28 साल का यह इंतजार खत्म करना था और इस काम को पूरा किया कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने। भारत ने इस टूर्नामेंट में केवल एक ही मैच हारा था। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ अंतिम मुकाबले के लिए भारतीय टीम उतरी। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 274 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया। भारत तो जीत के लिए 275 रनों की जरूरत थी। आखिरीर ओवर की गेंद पर उनका वह विनिंग सिक्स भला कोई कैसे भूल सकता है। धोनी ने 28 साल बाद भारक का विश्व कप जीतने का सपना पूरा किया।



Mahendra-Singh



5. 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी

महेंद्र सिंह धोनी अकेले ऐसे कप्तान है जिन्होंने आईसीसी के तीनों टूर्नामेंट जीते हैं। वनडे और टी20 विश्वकप जीतने के बाद धोनी बारी थी चैम्पियंस ट्रॉफी की। धोनी ने साल 2013 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम का नेतृत्व किया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 129 रन बनाए। वहीं जवाब में इंग्लैंड की टीम 124 रन पर आउट हो गई और भारत ने चैम्पियंस ट्ऱॉफी अपने नाम की। मैन ऑफ द मैच रवींद्र जडेजा रहे जिन्होंने 33 रन बनाने के साथ दो विकेट भी लिए।


virat




6. 2016 एशिया कप



msd-asia-cup



बतौर सीमित ओवर कप्तान धोनी का आखिरी खिताब है। इस साल खेले गए एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ आठ विकेट से जीत हासिल कर एक बार फिर एशिया कप अपने नाम किया। मीरपुर में खेले गए इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम ने 120 रन बनाए। भारत को जीत के लिए 121 रन चाहिए थे और शिखर धवन ने ने 60 रनों का धमाकेदार पारी खेलते हुए भारत को लक्ष्य के पास पहुंचाया।…Next



Read More:

क्रिकेटर्स की पत्नियां भी नहीं है उनसे कम, कोई है बॉक्सर तो कोई डांसर

अपने ही रिश्तेदार को दिल दे बैठे थे सहवाग, प्यार को पाने के लिए किया इतने साल इंतजार

गंभीर की पत्नी हैं करोड़ों की मालकिन, ऐसी है इनकी लाइफस्टाइल

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *