Menu
blogid : 7002 postid : 1391661

विंडीज से दूसरा मैच आज से, घरेलू मैदान पर लगातार 10वीं सीरीज जीतने उतरेगा भारत

Shilpi Singh

12 Oct, 2018

भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो मैच की सीरीज का दूसरा टेस्ट 12 अक्टूबर से हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा। भारत ने राजकोट में खेला गया पहला टेस्ट 272 रन से जीता था। हैदराबाद टेस्ट को जीतकर या ड्रॉ कराकर टीम इंडिया घरेलू मैदान पर लगातार 10वीं टेस्ट सीरीज जीतना चाहेगी। अगर ये मैच ड्रा भी होता है तब भी भारत के हिस्से में ही जीत आएगी।

 

 

घरलू मैदान पर भारत

भारतीय टीम 1983 से अपने घरेलू मैदान पर विंडीज से सीरीज नहीं हारी है। तब से लेकर आब तक करीब पांच सीरीज हुई हैं, जिसमें टीम इंडिया तीन जीती। इस दौरान कुल 15 टेस्ट खेले गए, जिसमें भारत आठ और वेस्टइंडीज दो जीता। वहीं, पांच टेस्ट ड्रॉ रहे। भारतीय टीम विंडीज के खिलाफ लगातार सातवीं सीरीज जीतना चाहेगी। मुकाबला ड्रॉ रहने पर भी भारत 1-0 से सीरीज जीत लेगा।

 

 

वेस्टइंडीज का ऐसा रहा है हाल

वेस्टइंडीज की टीम पिछले 16 साल से भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी। इस दौरान दोनों के बीच 19 टेस्ट हुए, जिसमें भारत 10 जीता और 9 ड्रॉ रहा। वेस्टइंडीज पिछली बार अपने घरेलू मैदान पर 2002 में सीरीज जीता था।

 

 

भारत की अब तक सीरिज जीत

 2015: श्रीलंका को 2-1 से हराया, 3 मैचों की सीरीज

 2015-16 :द. अफ्रीका को 3-0 से हराया, 4 मैचों की सीरीज

2016: वेस्टइंडीज को 2-0 से हराया, 4 मैचों की सीरीज

2016-17: न्यूजीलैंड को 3-0 से हराया, 3 मैचों की सीरीज

 2016-17: इंग्लैंड को 4-0 से हराया, 5 मैचों की सीरीज

 2016-17: बांग्लादेश को 1-0 से हराया, 1 मैच की सीरीज

 2016-17: ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया, 4 मैचों की सीरीज

 2017: श्रीलंका को 3-0 से हराया, 3 मैचों की सीरीज

 2017-18 : श्रीलंका को 1-0 से हराया, 3 मैचों की सीरीज

 

 

विंडीज के खिलाफ लगातार सातवीं सीरीज जीतना चाहेगी

भारतीय टीम विंडीज के खिलाफ लगातार सातवीं सीरीज जीतना चाहेगी। मुकाबला ड्रॉ रहने पर भी भारत 1-0 से सीरीज जीत लेगा। भारत के सीरीज जीत का सफर 2015 में शुरू हुआ था, जब विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने श्रीलंका को उसी की धरती पर 2-1 से मात दी थी।…Next

Read More:

रोहित और धवन ने तोड़ा सचिन-सहवाग का ये रिकॉर्ड, धवन का नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज

क्रिकेट मैदान के बाहर हिंदी कमेंटरी से चौके छक्के लगा रहे हैं ये 5 भारतीय क्रिकेटर

Injury या बीमारी के बाद और खतरनाक हो गए ये खिलाड़ी, धाकड़ थी वापसी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *