Menu
blogid : 7002 postid : 1359956

कभी नहीं थे खाना खाने के पैसे, आज मुंबई में आलीशान घर के मालिक हैं हार्दिक पंड्या

भारतीय टीम के नए ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या इस वक्त अपने करियर के सबसे अच्छे दौर से गुजर रहे हैं। हार्दिक ने बहुत कम समय में टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है, साथ ही उन्होंने टेस्ट में भी खुद को साबित कर दिया। टीम इंडिया के जोरदार ऑलराउंडर के तौर पर पहचान बना चुके हार्दिक पंड्या, 1993 में गुजरात के चोरयासी में पैदा हुए थे। ऐसे में चलिए जानते हैं कैसा था उनका क्रिकेट का सफर।

cover hardik


पिता के हार्ट अटैक के बाद बदली परिवार की दिशा

हार्दिक 22 साल के हैं और बेहद साधारण परिवार से आते हैं। हार्दिक के पिता फाइनेंसिंग का काम करते थे, लेकिन इससे ज्यादा कमाई नहीं हो पाती थी। 2010 में उन्हें हार्ट अटैक आया, खराब होती सेहत के कारण वह नौकरी नहीं कर पाए। इस वजह से घर की हालत बेहद खराब हो गई।


pandya-family



400-500 रुपये के लिए दूसरे गांव में खेलते थे

हार्दिक के बड़े भाई का नाम क्रुणाल है और वो भी पेशे से एक क्रिकेटर हैं। शुरुआती दिनों में हार्दिक और उनके भाई क्रुणाल 400-500 रुपये कमाने के लिए पास के गांव में क्रिकेट खेलने जाते थे। गांव का नाम था ‘पालेज’ उन्हें हर मैच के 400-500 रुपये मिल जाते थे।


pandya-brothers-



मैगी खाकर गुजारा करते थे हार्दिक

उस समय हार्दिक की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, जिसके चलते उनका परिवार किराये के घर में रहता था। हार्दिक ने एक इंटरव्यू में बताया था कि, उस दौरान वो केवल मैगी खाते थे। क्योंकि उनके पास पैसे नहीं होते थे कि वो खाना खा सकें। इतना ही नहीं हार्दिक के पास अपना क्रिकेट किट भी नहीं होता था।


hardik




हार्दिक ने 9वीं तक की है पढ़ाई

हार्दिक पांड्या पढ़ाई में अच्छे नहीं थे और नौवीं क्लास में फेल हो गए। इसके बाद उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी और सिर्फ क्रिकेट पर ही फोकस किया। पूर्व क्रिकेटर किरण मोरे ने हार्दिक पांड्या को अपनी एकेडमी में तीन साल तक फ्री ट्रेनिंग दी। शुरुआत में हार्दिक पांड्या लेग स्पिनर थे, लेकिन किरण मोरे की सलाह से वे फास्ट बॉलर बने। घरेलू क्रिकेट में दोनों भाई बड़ौदा की टीम से खेलते हैं। हार्दिक ने T20 में अपना डेब्यू साल 2013 में मुंबई के खिलाफ किया था।


pandya



जब टीम से ड्रॉप होने की कगार पर आए हार्दिक

जब हार्दिक अपने कोच के अंडर के खेल रहे थे उनके कोच ने भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच में बॉल ब्वॉय के लिए फॉर्म भरने को कहा था, लेकिन पंड्या ने इसे तवज्जो नहीं दी। वहीं उनके भाई कुणाल ने पॉर्म भर दिया, ऐसे में कोच हार्दिक से नाराज हो गए। कोच की नाराजगी की वजह से पंड्या को दो साल तक अंडर-16 क्रिकेट से अलग रहना पड़ा। यहां तक कि अंडर-19 के आखिरी साल भी वह ड्रॉप होने की कगार पर रहे। लेकिन असिस्टेंट कोच के अलावा तीन और सीनियर प्लेयर्स की वजह से उन्हे मौका मिला।


hardik-




अब खुद के घर में रहते हैं हार्दिक

2015 IPL की नीलामी पांड्या परिवार के लिए खुशियां लेकर आई। इस साल हार्दिक पांड्या को मुंबई इंडियंस ने उनके बेस प्राइज 10 लाख रुपये में खरीदा था। यहीं से उनका करियर परवान चढ़ा और उनके शानदार खेल के बाद उन्हें भारतीय टीम में जगह मिल गई। हार्दिक ने मुंबई में अपना पहला घर खरीदा, जो अंधेरी के पॉश एरिया वर्सोवा में है।…Next


Read more:

सौरव गांगुली समेत वो 5 क्रिकेटर जिन्होंने जीता है सबसे ज्याद ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब  “

इनकी कोचिंग की वजह से स्टार बने धोनी-कोहली जैसे क्रिकेटर्स, जानें कौन हैं इनके गुरु

ये हैं भारतीय क्रिकेटर्स की स्टाइलिश वाइफ और गर्लफ्रेंड, बेहद ग्लैमर्स है इनका लुक

सुनील गावस्कर से विवियन रिचर्ड्स तक, जब मैदान में फ्लॉप हुए सुपरस्टार क्रिकेटरों के बेटे

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *