Menu
blogid : 7002 postid : 1324631

इस गेंदबाज ने महज 4 गेंदो पर दे ड़ाले 92 रन, जानें किस टीम के खिलाफ बने इतने रन

क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल माना जाता है जहां कब बाजी पलट जाए किसी को कुछ भी नहीं पता. आजकल सब पर आईपीएल का बुखार चढ़ा हुआ है ऐसे में लगभग हर मैच में रिकॉर्ड भी बन रहे है, लेकिन भारत से दूर बांग्लादेश के एक क्लब ने ऐसा अनोखा रिकॉर्ड बनाया है जो शायद दोबारा बन ही ना पाए. खबरों के अनुसार बांग्लादेश के एक क्लब ने 88 रनों के लक्ष्य का पीछा चार गेंदों में ही कर लिया और मैच 10 विकेट से जीत लिया.


new02


भारत के इस गेंदबाज के नाम है ये खास रिकॉर्ड

क्रिकेट में हर दिन कोई नया सितारा आता है, कई नए रिकॉर्ड बनते हैं और उसे इतिहास में जगह मिलती है. अगर आईपीएल की बात करें तो यहां पर भी कुछ अनोखा देखने को मिल रहा है. हाल ही में तेज गेंदबाज अशोक डिंडा के ओवर में 30 रन बन गए थे और उन्होंने लीग के सबसे महंगे अंतिम ओवर का अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था. अब ऐसा ही एक और अनोखा रिकॉर्ड बांग्लादेश के एक खिलाड़ी के नाम आया है.


ashoak dinda


बांग्लादेश के गेंदबाज ने लुटाए रन

बांग्लादेश में सेकंड डिवीजन क्रिकेट लीग मैच एक्जिओम और लालमटिया के बीच खेला जा रहा था. हालांकि, इस दौरान मौजूद गेंदबाज खराब अंपायरिंग के कारण बेहद नाराज थे, जिस वजह से उन्होंने खराब गेंदबाजी की और उसका नतीजा ये हुआ है कि उसकी 4 गेदों में 92 रन बन गए और इस मैच को विरोधी टीम ने पलभर में अपने नाम कर लिया.


bangladesh




सेकंड डिवीजन क्रिकेट लीग में बने रन

लालमाटिया क्लब गेंदबाज सुजोन महमूद ने ढाका में खेली गई सेकंड डिवीजन क्रिकेट लीग में 80 अतिरिक्त रन दे डाले, जिसमें 65 रन बॉल से, और 15 रन तीन नो बॉल से दिए. यह अजीबोगरीब कारनामा उन्होंने एक्जियोम क्रिकेटर्स के खिलाफ सिटी क्लब क्रिकेट ग्राउंड में किया.



match00



महज 88 रनों पर ऑलआउट हो गई थी टीम

इसके पहले लालमाटिया 14 ओवरों में 88 रनों पर ऑलआउट हो गई, एक बल्लेबाज रन आउट हुआ, दो पीछे कैच किए गए, तीन एल्बीडब्ल्यू (पगबाधा) और एक स्टंपिंग आउट हुआ. वहीं खिलाड़ियों का मानना था कि अंपायर ने जानबूझकर कुछ गलत फैसले दिए जिस वजह से उनकी टीम का खेल खराब हो गया.



cricket-l-reu




अंपायर से नाराज थे खिलाड़ी

लालमाटिया जनरल सेक्रेटरी अदनान रहमान ने कहा, ‘ये सब टॉस के वक्त शुरू हुआ और हमारे कप्तान को टॉस का क्वाइन(सिक्का) नहीं देखने दिया गया, हमें बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया गया और जैसा कि उम्मीद की जा रही थी अंपायर का निर्णय हमारे खिलाफ आया और टीम कम स्कोर पर ऑलआउट हो गई. हमारे खिलाड़ी युवा हैं जिनकी उम्र 17, 18 और 19 साल है, वे ये अन्याय बर्दाश्त नहीं कर सके और चार गेंदों में 92 रन दे डाले’…Next


Read More:

कभी पक्के दोस्त हुआ करते थे ये क्रिकेटर लेकिन एक लड़ाई ने बढ़ा दी दूरियां

मैदान पर अपने गुस्से के लिए मशहूर विराट को गलत शॉट के लिए पड़ा था जोरदार थप्पड़

इस मैच में पाक टीम के लिए खेले थे सचिन, धोनी का यहां नहीं है कोई शतक! जानें ऐसी ही रोचक बातें

कभी पक्के दोस्त हुआ करते थे ये क्रिकेटर लेकिन एक लड़ाई ने बढ़ा दी दूरियां
मैदान पर अपने गुस्से के लिए मशहूर विराट को गलत शॉट के लिए पड़ा था जोरदार थप्पड़
इस मैच में पाक टीम के लिए खेले थे सचिन, धोनी का यहां नहीं है कोई शतक! जानें ऐसी ही रोचक बातें

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *