Menu
blogid : 7002 postid : 1389680

भारत से छिनी एशिया कप की मेजबानी, पाकिस्तान बना वजह

पाकिस्तान के साथ जारी कूटनीतिक तनाव के चलते भारत से एशिया कप की मेजबानी छीन ली गई है और अब इसे संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में आयोजित कराने का फैसला किया गया है। टूर्नामेंट का आयोजन इस वर्ष 13 से 28 सितंबर तक दुबई और अबू धाबीमें होगा. जबकि कुछ मैच श्रीलंका और पाकिस्तान में खेले जाएंगे। एशिया कप का आयोजन भारत की जगह UAE में करने का फैसला एशियाई क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) ने लिया है क्योंकि बीसीसीआई सरकार से पाकिस्तान की मेजबानी की अनुमति नहीं ले सकी।

 

 

 

भारत में नहीं होगा एशिया कप

कुआलालंपुर स्थित एसीसी मुख्यालय में हुई बैठक में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व सीईओ राहुल जौहरी ने किया जिसकी अध्यक्षता पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी ने की। बैठक में जौहरी ने आयोजन स्थल बदलने का आग्रह किया। एक सीनियर अधिकार के मुताबिक जौहरी ने एसीसी बोर्ड को मौजूदा हालात से अवगत कराया। बीसीसीआई को पाकिस्तान के खिलाफ तटस्थ स्थल पर सिर्फ आईसीसी के टूर्नामेंटों में खेलने की अनुमति है, जबकि एशिया कप एसीसी का टूर्नामेंट है, जिसमें पाकिस्तान के खिलाफ खेलने के लिए उसे सरकार से अनुमति लेनी होगी।

 

 

छह देशों के बीच खेला जाएगा मैच

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने एशिया क्रिकेट परिषद (एसीसी) और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष नजम सेठी के हवाले से कहा, ‘एसीसी ने इस मामले पर काफी सोच विचार के बाद इसे बाहर आयोजित कराने का फैसला किया है। इस बारे में सर्वसम्मत से सभी निर्णय लिए गए हैं’। एशिया कप छह देशों के बीच खेला जाएगा। इसमें भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बंगलादेश और अफगानिस्तान के अलावा छठी टीम यूएई, हांगकांग, नेपाल, सिंगापुर, मलेशिया और ओमान में से एक होगी, जो प्लेऑफ के जरिये इसमें शामिल होगी, एशिया कप का यह 14वां संस्करण होगा।

 

 

इस साल 50 ओवर का होगा एशिया कप

यूएई को कई कारणों से चुना गया है. उन्होंने कहा, ‘भारत पाकिस्तान में नहीं खेल सकता। लेकिन यूएई ऐसी जगह है जहां भारत , पाकिस्तान और यहां तक की अफगानिस्तान के लोगों की अच्छी जनसंख्या है। भारतीय टीम के बिना होने वाले मैचों में भी बड़ी संख्या में दर्शकों के आने की संभावना है। एशिया कप दो साल में एक बार खेला जाता है, जो अब वनडे और टी-20 दोनों प्रारूप में खेला जाता है। पिछली बार 2016 में टी-20 वर्ल्ड कप के तैयारियों के तहत इसे इसे टी-20 प्रारूप में खेला गया था, इस बार इसे 50 ओवर प्रारूप में खेला जाएगा।Next

 

 

 

 

Read More:

IPL की 5 बदकिस्मत टीमें, जो मजबूत होने के बावजूद खिताब पर नहीं जमा पाईं कब्जा

किसी ने एक तो किसी ने 3 बार जीता खिताब, ये हैं IPL की सबसे दमदार टीमें

IPL 2018: इस सीजन में सिर्फ 3 टीमों को छोड़कर 5 ने बदले कप्तान, जानें पूरी लिस्ट

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *