Menu
blogid : 7002 postid : 1392218

क्रिकेट इतिहास के वो 3 मौक, जब पूरी टीम को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया

Shilpi Singh

2 Dec, 2018

क्रिकेट एक टीम गेम है यानी इसमें खिलाड़ी से ज़्यादा महत्व टीम का है। एक खिलाड़ी की प्रतिभा से ज़्यादा ज़रूरी है पूरी टीम का प्रतिभावान होना। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि इस खेल में अकेले किसी खिलाड़ी की एहमियत नहीं है। जब कोई खिलाड़ी किसी मैच में अच्छा प्रदर्षण करता है, तब उसे मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड से नवाज़ा जाता है। ICC ने मैन ऑफ़ द मैच देने के तरीके को परिभाषित नहीं किया है। इसके लिए कोई मानक नियम नहीं है इसलिए इतिहास में तीन मौके ऐसे भी दर्ज हैं, जब पूरी टीम को मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड मिला था।

 

 

1. न्यूज़ीलैंड

न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 35.5 ओवर में 158 रनों का लक्ष्य खड़ा कर पाई। तब वेस्टइंडीज़ जैसी टीम के लिए ये एक बेहद मामूली स्कोर था लेकिन न्यूज़ीलैंड की पूरी टीम ने कमाल का प्रदर्शन किया और वेस्टइंडीज़ की टीम को 49.1 ओवर में 154 रनों पर चलता कर दिया और मैच को चार रनों से जीत लिया। पूरी टीम का प्रदर्शन इतना नपा-तुला था कि आखिर में तय किया गया कि पूरी टीम को ही मैन ऑफ़ द मैच मिलना चाहिए।

 

 

2. पाकिस्तान

ऐसे कम ही मौके मिलेंगे जब किसी टीम का प्रर्दशन बिल्कुल एक जौसा रह हो और खासकर जब बात पाकिस्तान टीम को। दरअसल पाकिस्तान की टीम में आपसी टकराव जगज़ाहिर हैं। बावजूद इसके ये न्यूज़ीलैंड के बाद दूसरी टीम है जिसे एकदिवसिय क्रिकेट में संयुक्त रूप से मैन ऑफ़ द मैच मिला हो। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए एक सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। पाकिस्तान के सामने 246 रनों का लक्षय था, जिसे इस एशियाइ टीम ने दो गेंद शेष रहते आठ विकेट गवां कर हासिल कर लिया। सामान्य समझ के हिसाब से मैन ऑफ़ द मैच नाबाद 125 रन बनाने वाले इंग्लैंड के बल्लेबाज़ Nick Knight को मिलना चाहिए था, लेकिन पाकिस्तानी टीम के सामूहिक प्रदर्शन की वजह से उनकी टीम को मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड दिया गया।

 

 

3. साउथ अफ्रीका

 

 

टेस्ट क्रिकेट में ऐसा एक ही बार हुआ है जब टीम के सभी ग्यारह खिलाड़ियों को मैन ऑफ़ द मैच मिला हो। साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पहली इनिंग में 313 रन बनाए।  जब इंडिज टीम बैटिंग के लिए उतरी तब उसने अपनी पहली इनिंग में 144 रन ही बनाए। साउथ अफ्रीका के पास एक बड़ी लीड थी, दूसरी इनिंग में उन्होंने 399 रन और जोड़ दिए। अब वेस्टइंडीज़ के सामने 569 रनों का लक्षय था लेकिन वो मात्र 217 रन बनाने में सफ़ल रही। इस मैच में साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ियों ने शतक जड़े, बॉलरों का प्रदर्शन भी अच्छा था, इसलिए अंत में तय किया गया कि पूरी टीम को मैन ऑफ़ दी मैच दे दिया जाए।…Next

 

Read More:

रवि शास्त्री समेत ये हैं क्रिकेट की दुनिया के सबसे महंगे कोच, खिलाड़ी से कम नहीं है सैलरी

T20: हिसाब बराबर करने उतरेगा भारत, मिली हार तो सीरीज जीतेगा ऑस्ट्रेलिया

लगातार पांचवी बार महिला T20 फाइनल में पहुंची ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड से होगा आखिरी मुकाबला

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *