Menu
blogid : 1048 postid : 1089

Career Tips: आईबीपीएस बैंक क्लर्क के लिए क्या है जरूरी

नई इबारत नई मंजिल

  • 197 Posts
  • 120 Comments


आजकल किसी भी परीक्षा में सफलता आसानी से नहीं मिलती है। इसका प्रमुख कारण यह है कि हर वर्ष परीक्षा के पैटर्न और सिलेबस में परिवर्तन होते ही रहते हैं और नए स्टूडेंट्स भी सम्मिलित होते रहते हैं। इस तरह की परीक्षा में सफलता उन्हीं स्टूडेंट्स को मिलती है, जिसकी तैयारी अच्छी होती है। हाल ही में देश की 19 सरकारी बैंकों ने क्लर्क पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। अगर आप एक परीक्षा देकर सरकारी बैंकों में क्लर्क बनना चाहते हैं, तो आईबीपीएस आपके लिए बेहतरीन अवसर लेकर आया है। ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 नवंबर और परीक्षा की तिथि दिसंबर माह है।


Read: Tips of Success in Examination: आप क्यों हैं सफलता से दूर

Read: Career in Retail Market: क्या है रिटेल सेक्ट


अब ग्रेजुएट है जरूरी

आईबीपीएस ने इस बार क्लर्क पदों के लिए न्यूनतम योग्यता और उम्र सीमा में बदलाव किया है। इस परीक्षा के लिए आपकी उम्र सीमा न्यूनतम 20 वर्ष और अधिकतम 28 वर्ष जरूरी है। आरक्षण के दायरे में आनेवाले स्टूडेंट्स को सरकारी नियमानुसार छूट का प्रावधान है। यदि किसी भी विषय में ग्रेजुएट हैं, तो आप इस परीक्षा को देने के लिए योग्य हैं।


दो सौ अंकों की लिखित परीक्षा

नए पैटर्न के अनुसार, परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की होगी, जिसमें पांच क्षेत्रों से संबंधित प्रश्न होंगे। कुल 200 अंकों की परीक्षा होगी, जिसके अंतर्गत रीजनिंग, इंग्लिश लैंग्वेज, न्यूमरिकल एबिलिटी, कम्प्यूटर नॉलेज और जनरल अवेयरनेस से संबंधित प्रश्न होंगे। रीजनिंग में वर्बल और नॉन वर्बल दोनों तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे। वर्बल में नंबर सीरीज, अल्फाबेट सीरीज, डायरेक्शन टेस्ट, कोडिंग-डिकोडिंग, नंबर रैंकिंग, अर्थमैटिकल रीजनिंग, ब्लड रिलेशन, एनॉलाजी, डीसीजन मेकिंग आदि के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। नॉनवर्बल में ग्रुपिंग, फिगर रिलेशनशिप और सीरीज के प्रश्न होंगे। वहीं गणित में संख्या पद्धति, सरलीकरण, वर्ग तथा वर्गमूल, भिन्न, प्रतिशतता, ब्याज, औसत, चाल-समय, क्षेत्रफल के अलावा अनुपात एवं समानुपात से प्रश्न रहेंगे। अंग्रेजी में कॉमन एरर, प्रीपोजीशन, सिनोनिम्स एंड एंटोनिम्स, स्पेलिंग रूल्स, सेंटेंस कंपलीशन, सेंटेंस इंप्रूवमेंट, क्लोज टेस्ट से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे। इसी तरह कंप्यूटर से रिलेटेड प्रश्न रहेंगे और जनरल अवेयरनेस के अंतर्गत बैंकिंग से संबंधित प्रश्नों की संख्या अधिक रहेगी। वस्तुनिष्ठ पेपर में निगेटिव मार्किग होगी।


सभी विषय पर पकड जरूरी

अगर आप भी इस परीक्षा में सफल होना चाहते हैं, तो सबसे पहले बदले पैटर्न का गहन अध्ययन करें और उसी के अनुरूप तैयारी को अंतिम रूप देने की कोशिश करें। अगर आप वस्तुनिष्ठ परीक्षा की तैयारी निर्धारित समय सीमा के अंदर सिलेबस के अनुरूप करते हैं, तो सफलता प्राप्त कर सकते हैं। वर्बल रीजनिंग में अच्छे अंक नियमों की जानकारी और अभ्यास के द्वारा हासिल किए जाते हैं, वहीं नॉनवर्बल में अभ्यास ही सफलता का असली आधार होता है। गणित में सभी प्रश्न कांसेप्ट पर आधारित होते हैं। इस कारण कांसेप्ट क्लियर होने के बाद आप किसी भी तरह के प्रश्नों को आसानी से हल कर सकते हैं। बैंक में प्रश्नों का रीपिटीशन बहुत कम होता है, लेकिन उसके आधार पर प्रश्न काफी पूछे जाते हैं। इस स्थिति में यदि आपको कांसेप्ट क्लियर नहीं है, तो अभ्यास के बावजूद इसमें बेहतर स्कोर नहीं ला सकते हैं। इसमें शॉर्ट ट्रिक और सूत्रों को जाने बिना सफल होना नामुमकिन है। इन ट्रिकों को कोचिंगों एवं बाजार में उपलब्ध पुस्तकों से सीखा जा सकता है। अंग्रेजी में सफलता के लिए तीन चीजों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है वे हैं- ग्रामर की जानकारी और शब्दों का सही प्रयोग, स्पेलिंग की सटीक जानकारी और सेंटेंस फॉर्मेशन में निपुणता। इसके लिए जरूरी है कि आप एक ग्रामर पढने के साथ ही राष्ट्रीय अंग्रेजी अखबार का नियमित अध्ययन करें और शब्द भंडार बढाने की कोशिश करें। इसी तरह आप कंप्यूटर से संबंधित जानकारी के लिए किसी एक प्रामाणिक पुस्तक का अध्ययन कर सकते हैं।


अब एक इंटरव्यू

लिखित परीक्षा पास करने के बाद अब कॉमन इंटरव्यू होगा। इस इंटरव्यू को आधार बनाकर सभी बैंक अब फाइनल मेरिट बनाएंगे। मेरिट लिखित परीक्षा में प्राप्त अंक और इंटरव्यू में मिले अंकों को जोडकर बनाया जाएगा। कहने का आशय यह है कि अब आपको अलग-अलग बैंकों के लिए अलग इंटरव्यू नहीं देना पडेगा। आप सिर्फ कॉमन इंटरव्यू देकर ही 19 बैंकों में इंट्री कर सकते हैं। यह आपके लिए एक बेहतरीन अवसर है। अगर आप इस परीक्षा के लिए गंभीर हैं, तो इसकी तैयारी के लिए अभी से जुट जाइए। कोई कारण नहीं कि अगर आप समय से पहले परीक्षा की तैयारी कर लेते हैं, तो औरों के मुकाबले काफी आगे रह सकते हैं।


आईबीपीएस बैंक क्लर्क प्रैक्टिस बुक

विशेषज्ञों के अनुसार वस्तुनिष्ठ परीक्षा में प्रैक्टिस अहम है। बिना प्रैक्टिस के आप बैंक क्लर्क की परीक्षा में सफलता नहीं प्राप्त कर सकते हैं। सरकारी बैंकों में क्लर्क ग्रेड की अच्छी तैयारी और प्रैक्टिस के लिए जागरण की आईबीपीएस बैंक क्लर्क प्रैक्टिस बुक भी बाजार में उपलब्ध है। प्रैक्टिस के लिए इसमें लगभग पांच हजार प्रश्न और उत्तर हैं। इसमें सभी विषयों की तैयारी के लिए प्रश्न सेट भी दिए गए हैं। इसके प्रश्न विशेषज्ञों द्वारा तैयार किए गए हैं, जो परीक्षा के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हैं। अगर अपनी संपूर्ण तैयारी चाहते हैं, तो इस पुस्तक की सहायता से खुद को अपडेट कर सकते हैं।


सीडब्ल्यूई क्लर्क ग्रेड परीक्षा

ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 5 नवंबर, 2012

परीक्षा की तिथि- दिसंबर


Read: Career Tips: अंग्रेजी भाषा ने खोले कई रास्ते


Tag: IBPS Clerk Recruitment 2012 notification, IBPS Clerk Recruitment 2012-2013 Exam Model Papers, IBPS Clerk Sample Papers, Bank clerk, Bank Recruitment, बैंक क्लर्क, बैक परीक्षा 2012, आईबीपीएस क्लर्क, आईबीपीएस.



Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *