Menu
blogid : 318 postid : 304

‘सोना’ भारतीयों की पहचान है

अर्थ विमर्श

  • 173 Posts
  • 129 Comments

Indian consumer goldअमरीका में जैसे ही राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मिट रोमनी को हराकर सत्ता में वापसी की भारतीय बाजार में उछाल देखने को मिला. भारतीय स्टॉक मार्केट तेजी के साथ आगे बढ़ा. इस तेजी में भारतीय कमोडिटी बाजार भी अछूता नहीं रहा. विदेशों में कमजोर रुख के बावजूद दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने और चांदी की कीमतों में तेजी दर्ज की गई. सोने के भाव 270 रूपए चढ़कर 31,380 रूपए प्रति दस ग्राम और चांदी केवल 800 रुपए की तेजी के साथ 60,140 किलो हो गई.


Read: दिवाली पर सोने की खरीदारी में है समझदारी


सोना हमेशा से रहा है कीमती

वैसे यह नहीं कहा जा सकता कि राष्ट्रपति बराक ओबामा की वापसी से ही सोने के दाम बढ़े हैं. भारत के लिए सोने का महत्व कुछ अलग ही है. यहां सोने को केवल धातु न समझकर वैभव और धर्म के साथ जोड़ा गया है. राजा-महाराजाओं के काल से ही सोने को अन्य आभूषणों की तुलना में पवित्र माना गया है. आदि काल से ही सोना भारतीयों के घर की शोभा रहा है. लोग इसे खरीदकर घर में रखना अच्छा सुरक्षित पूंजी निवेश मानते हैं. लोगों का मानना है कि यदि सोना घर में रहेगा तो सुख-समृद्धि आएगी तथा बेचकर कभी भी इसे नकद रूप दिया जा सकता है.


Read: अमरीका में फिर बना अश्वेत राष्ट्रपति


आज भी चाहे सोने के दाम कितने भी ऊंचे हों लोग इस पवित्र धातु को खरीदकर इसे सम्मान देना नहीं भूलते. आंकड़ों के मुताबिक भारत में सबसे ज्यादा सोने के गहने बिकते हैं और सोना भी पूरे विश्व में सबसे ज्यादा भारतीयों के पास ही है. पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय विश्वनाथ प्रताप सिंह ने देश की जनता से अपील की थी कि यदि वे अपने घर का सोना निकाल दें, तो भारत में कभी भी धन की कमी नहीं होगी.


त्यौहारों में खूब चमकता है सोना

त्यौहारों खासकर दिवाली के समय लोग इसे ज्यादा तवज्जो देते हैं क्योंकि यही वह समय होता है जब लोग इस पवित्र धातु को अपने देवी-देवताओं के लिए भेंट करते हैं, उनके लिए गहने बनवाते हैं. इसी के मद्देनजर कमोडिटी बाजार में सोने की कीमतों में बढ़ोत्तरी देखी जाती है. फुटकर ग्राहक और दिनों के मुकाबले इस समय सोने की ज्यादा खरीदारी करते हैं. ऐसा नहीं है कि लोग केवल त्यौहारों के समय इसकी ज्यादा खरीदारी करते हैं.

सामाजिक स्तर पर कोई भी उत्सव हो आभूषणों में लोग इसे ज्यादा महत्व देते हैं. भारत में विवाहों में सोने का लेन-देन सबसे ज्यादा होता है. बेटी को कन्यादान के रूप में सोना देना अत्यंत जरूरी माना जाता है. घर के रिश्तेदार और दोस्त भी कोशिश करते हैं कि इन अवसरों पर सोने के रूप में ही कोई उपहार दें.


Read:

अब अपने ही घर में अजनबी हुए नितिन गडकरी

जल्द ही टूटेगा सचिन का रिकॉर्ड


Tag: Gold,Bullion,Precious Metals,Barack Obama, MARKETS,GOLD,India trade, सोना, सोने की कीमत, सर्राफा बाजार, कमोडिटी बाजार.



Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *