Menu
blogid : 25489 postid : 1388160

कदम मिला कर चलना होगा….

Parivartan- Ek Lakshya

  • 23 Posts
  • 1 Comment

झूठ
निज दामन पकड़ कर
इस तरह रोने लगा ,
झूठ की
सरिता बही
और –
सत्य डांवाडोल है ।
रोज का –
कुत्तों का रोना
लोग कहते
अशुभ होता ,
झूठ फिर भी –
रोज रोता ,
सत्य मीठी नींद सोता ।
जिनके दामन
स्याह अँधेरे
जो उल्लू के लंपट चेरे ,
उनको –
कायनात मिल जाए ?
सत्य कहां फिर
धोख़े खाए ??
झूठ मरा है –
नहीं मारना ,
मरे हुए को
सिर्फ जारना ,
शुभ बेला है
बरना होगा ,
कदम मिला कर
चलना होगा ।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *