Menu
blogid : 13169 postid : 13

Aisa Nahin Mai Kisi Nazar Me Nahin

यायावर
यायावर
  • 12 Posts
  • 13 Comments

ऐसा नहीं मै किसी की नज़र में नहीं
जो मेरी नज़र में है बस उसी की नज़र में नहीं
आईने भी झूठ बोल सकते हैं
नुक्स हमेशा मेरी नज़र में नहीं
आओ तलाशें मंजिल को यहीं
अब कुछ भी रखा इस सफ़र में नहीं
शब खामोश और तारीक थी इतनी
गुम है, दिखता आफताब इस सहर में नहीं
पतझर में ये तो होना ही था
शिकवा फ़िज़ूल जो कोई पत्ता शज़र में नहीं।

Read Comments

Post a comment