बेतिया । मैनाटांड़ में पंचायत चुनाव के सातवें चरण में सोमवार को मतदान संपन्न हो गया। जिसमें 70 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। गांव की सरकार चुनने को युवाओं व महिलाओं में गजब का उत्साह रहा। सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के निर्धारित समय के पहले ही केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लंबी कतारें लग गयी। सुबह सात बजे से शुरू हुआ मतदान का दौर दिनभर जारी रहा।आधा दर्जन से ज्यादा जगहों पर ईवीएम खराब होने की शिकायतें मिली । जिसको सेक्टर मजिस्ट्रेट और टेक्निकल टीम ने तुरंत दूर किया। कई जगहों पर ईवीएम बदले भी गए। सुबह से ही मतदान ने गति पकड़ लिया। नौ बजे तक 13 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग जिसमें महिलाओं का प्रतिशत ज्यादा रहा। मतदान के दौरान एसडीएम धनंजय कुमार, एसडीपीओ कुंदन कुमार, प्रशिक्षु डीएसपी सद्दाम हुसैन, कुमार , डीटीओ राजेश कुमार, बीडीओ पंकज कुमार,सीओ कुमार राजीव रंजन समेत अन्य अधिकारी मतदान केंद्रों का भ्रमण कर वहां की स्थिति का जायजा लेते रहे। अधिकारी पूरी मतदान प्रक्रिया पर नजर बनाए रखें।

---------------------------------------------

1801 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद मैनाटाड़ में पंचायत के त्रिस्तरीय पदों के लिए 1801 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनका भाग्य सोमवार को ईवीएम में बंद हो गया । पंचायत चुनाव में मुखिया, बीडीसी , वार्ड सदस्य व जिला परिषद का चुनाव पहली बार ईवीएम से कराया गया। जबकि बैलट पेपर के माध्यम से सरपंच और पंच का चुनाव कराया गया। सरपंच और पंच के पदों के लिए भी लोगों ने जमकर वोट डाला। पहली बार मतदाताओं की बायोमेट्रिक जांच की भी व्यवस्था रही। जहां पर लोगों में चर्चा रहा कि निर्वाचन विभाग ने फर्जी वोटिग को रोकने के लिए अच्छा काम किया है।

-------------------------------------------

पहली बार मतदान करने वाले में उत्साह मैनाटाड़ के पंचायत भवन में स्थित मतदान केंद्र संख्या 159 पर पहली बार मतदान कर निकली आकांक्षा कोमल ने काफी खुशी दिखी। उसने बताया कि आज पहली बार मतदान के माध्यम से लोकतंत्र के महापर्व मे हिस्सा लेने का मौका मिला है। उसने बताया कि अपने पसंद के उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान किया है। वहीं बसंतपुर गांव में विवाहिता तरन्नुम जहां और शमशाद खातुन ने पहली बार वोटिग कर काफी खुश थी।

Edited By: Jagran