बगहा। चिउटाहा व वाल्मीकिनगर थाना क्षेत्र के अलग-अलग जगहों पर हुए सड़क हादसों में दो युवकों की मौत हो गई। वहीं तीन लोग घायल हो गए। घायलों को अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

चिउटाहा-बगहा मुख्य सड़क मार्ग में बैराटी चांदनी चौक के समीप रविवार की रात्रि तेज रफ्तार दो बाइक की आमने सामने टक्कर हो गई। इसमें एक बाइक चालक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरे बाइक पर सवार चालक समेत तीन लोग जख्मी हो गए।

चिउटाहा ओपी प्रभारी जय नारायण राम ने बताया कि मृतक की पहचान स्थानीय थाना क्षेत्र के बलकहवा गांव निवासी दुखहरन सहनी के 28 वर्षीय पुत्र उपेंद्र सहनी के रूप में हुई है। वहीं घायलों में भैरोगंज थाना के कपरधिका गांव निवासी राजू साह, चिउटहा थाना के बलकहवा गांव निवासी लाल बीन की पत्नी सोना देवी व रामप्रीत बीन का पुत्र सिंहासन बीन को अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रविवार को हुए एक अन्य घटना में वाल्मीकिनगर निवासी 24 वर्षीय बिंदा यादव बाइक से नौरंगिया मदनपुर मोड़ के पास पहुंचा था। तभी अनियंत्रित होकर उसकी बाइक ईंट के ढेर से टकरा गई। गंभीर चोट लगने के बाद युवक को अनुमंडलीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के लिए ले जाया गया। वहां उपचार के बाद स्थिति गंभीर देखते हुए उसे बेतिया मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। वहां से स्वजन उसे मोतिहारी ले गए। इसी क्रम में उसकी मौत हो गई। इंसेट बाक्स: हेलमेट लगाते जो बच जाती जान फोटो: 27

-------------

बगहा,संस: वाल्मीकिनगर व चिउटाहां में हुए सड़क हादसों में बाइक चालक यदि हेलमेट लगाए होते तो शायद उनकी जान बच जाती। चिकित्सकों के अनुसार सिर पर गंभीर चोट लगने से इनकी मौत हुई हैं।

सड़क हादसों में ज्यादातर लोगों की जान सिर पर गंभीर चोट लगने से जाती है। करीब 75 प्रतिशत लोग हेलमेट न लगाने की वजह से मौत का शिकार हो जाते हैं। हाल के दिनों में सड़क दुर्घटना में आधा दर्जन से अधिक युवकों की मौत सिर पर गंभीर चोट लगने से हुई है। उनके सिर पर हेलमेट नहीं था,जो मौत का कारण बना।

Edited By: Jagran