बेतिया । रामकृष्ण विवेकानंद एजुकेशनल सोसाईटी के सचिव डॉ. मदन बनिक ने कहा कि छात्र-छात्राओं को स्वामी विवेकानंद के जीवन व आर्दशों से प्रेरणा लेने की जरुरत है। उनके आर्दश को आत्मसात करने से निश्चित रूप से सफलता मिलेगी। वे शनिवार को विद्यालय के सात वर्ष पूरा हो जाने पर मनाई जा रही वार्षिकोत्सव में छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने जोर देकर कहा कि संस्कार जीवन की अमूल्य धरोहर है। इसे भी आत्मसात करना होगा। उन्होंने कहा कि छात्र जीवन ब्रह्मर्चय जीवन है। सफलता के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। पढ़ाई के प्रति बच्चों का उद्देश्य अर्जुन के लक्ष्य की तरह रहना चाहिए। विद्यालय का मुख्य उद्देश्य समाज के अभिवंचित वर्गों को शिक्षा के माध्यम से मुख्य कतार में लाना है। विद्यालय गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध है। इसके पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन वार्षिकोत्सव में उपस्थित मुख्य अतिथि राजकीय मध्य विद्यालय दुसादपट्टी के प्रधानाध्यापक तारकेश्वर तिवारी ने दीप प्रज्वलित कर किया। उनका साथ विद्यालय का निदेशक डॉ. मदन बनिक व अन्य गणमान्य लोगों ने दिया। इसके बाद छात्र-छात्राओं ने रंगारंग कार्यक्रम शुरू की गई। बच्चों ने उमंदा प्रस्तुति देकर अभिभावकों का मनमोह लिया। सत्यम् शिवम् सुंदरम, राधे राधे दिल हैं.. जैसे गीतों पर नृत्य कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। मुख्य आकर्षण बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं नाटक के मंचन रहा। बच्चों ने यह प्रस्तुति देकर अभिभावकों का दिल जीत लिया। इस दौरान पूरे वर्ष विद्यालय के गतिविधियों में बेहतर प्रदर्शन करने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया गया। वार्षिकोत्सव में वाणी दास ने गरीब और जरूरतमंदों के बीच कंबल का वितरण भी किया। कार्यक्रम में नवका टोला जगदीशपुर के प्रधानाध्यापक मनोज कुमार, रमेश कुमार, अनिमा सरकार, रूचि वर्मा, किमी मिश्रा, हरेंद्र प्रसाद, विनित सिंह, मुन्नी चौधरी, राधाकांत देवनाथ, राजेश्वर मिश्र सहित सैकड़ों अभिभावक व छात्र उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस