बेतिया । त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर भारत- नेपाल सीमा पर एसएसबी की ओर से चौकसी बढ़ा दी गई है। हालांकि कोरोना की वजह से नेपाल की ओर से बॉर्डर खोलने की अधिकृत घोषणा नहीं हुई है। लेकिन स्थानीय लोगों के दबाव की वजह से बाइक, साइकिल एवं पैदल लोगों की आवाजाही हो रही है। एसएसबी के 47 वीं बटालियन के सेनानायक प्रियवर्त शर्मा के निर्देश पर बुधवार को बॉर्डर पर जवानों ने तलाशी अभियान चलाया। सिकटा व भिस्वा(नेपाल) बॉर्डर के चेक पोस्ट पर नेपाल से आने व जाने वालों की विशेष तलाशी ली गई। हालांकि इस बीच कोई प्रतिबंधित समान या फिर संदिग्ध नहीं मिला। बीओपी सिकटा के प्रभारी सह इंस्पेक्टर राजनन्दन कुमार ने बताया कि चुनाव को लेकर बॉर्डर पर सघन तलाशी अभियान आरंभ किया गया। यह अनवरत जारी रहेगा। एसएसबी की इस कार्रवाई को लेकर असामाजिक तत्वों की बेचैनी बढ़ गई। वहीं शान्ति व्यवस्था कायम करने को लेकर सिकटा बाजार समेत सीमाई इलाके में विशेष पेट्रोलिग भी किया गया। इस दौरान कोविड़ से सुरक्षित रहने को लेकर जवानों ने बिना मास्क लगाए लोगों की जमकर फटकार लगाई। कोविड़ गाइडलाइंस का अनुपालन करने के नसीहत भी दी।

------------------------------------------------

शराब धंधेबाजों की बढ़ी चिता

भारत- नेपाल सीमा के ग्रामीण रास्तों से शराब की खेप पहुंचाने वाले धंधेबाजों की चिता अब बढ़ गई है। प्रतिदिन शाम में नेपाल में जाकर शराब पीकर अपने घर लौटने वाले शराबी भी सहम गए हैं। क्योंकि बॉर्डर हीं नहीं, सीमा से जुड़े ग्रामीण रास्तों पर भी एसएसबी ने चौकसी बढ़ा दी है। एसएसबी के जवान बॉर्डर से जुड़े ग्रामीण रास्तों पर भी गश्त लगा रहे हैं और पंचायत चुनाव को लेकर लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं।

Edited By: Jagran