बेतिया। पंचायत उप चुनाव मे ईवीएम से सहानुभूति का वोट प्रत्याशियों को मिला। पखनाहा डुमरिया पंचायत की मुखिया पद के चुनाव मे मृत मुखिया के पुत्र ने ही जीत हासिल की। वही बथना पंचायत के सरपंच पद के चुनाव मे भी मृत सरपंच की पतोहू ने ही बाजी मारी। जबकि, तधवानंदपुर के एक वार्ड सदस्य पद के चुनाव में पहले वार्ड सदस्य रह चुके वार्ड सदस्य की पत्नी ने जीत हासिल की है। सीओ सह निर्वाची पदाधिकारी अभिषेक आनंद ने बताया कि पखनाहा डुमरिया के पंचायत उप चुनाव में 5,812 वोट पड़े थे। जिसमें राजू हजरा को 3,024 एवं दूसरे स्थान पर रहे हरिलाल राम को 2655 वोट मिले ।जबकि तीसरे प्रत्याशी गौरीशंकर राम को 133 वोट मिले। इस पंचायत के मुखिया पद के चुनाव मे राजू हजरा ने 369 मतों के अंतर से जीत हासिल की। जबकि बथना पंचायत के सरपंच पद के चुनाव मे संध्या देवी को 1207 वोट मिले। वही, दूसरे स्थान पर रहे मंजू देवी को 403 वोट मिले ।इस पंचायत के सरपंच पद के चुनाव मे संध्या देवी ने 804 मतों के अंतर से जीत हासिल की। वही तधवानंदपुर के एक वार्ड सदस्य पद के चुनाव मे फरीदा परवीन को 384 वोट मिले। वही दूसरे स्थान पर रहे हरिओम साह को 180 वोट मिले। इस वार्ड सदस्य पद के चुनाव मे फरीदा परवीन ने 204 मतों के अंतर से जीत हासिल की। इस प्रखंड के दो पंचायत के मुखिया व सरपंच पद के चुनाव मे पूर्व जीते प्रत्याशी के परिजन को ही वोट देकर जीताने का काम किया है ।सहानुभूति की लहर के आगे सभी समीकरण व गोलबंदी फ़ेल हो गई। वोटरों ने पहले से जीते प्रत्याशी के परिजनों को ही आगे के लिए पंचायत की बागडोर सौपना उचित समझा है और सहानुभूति का वोट पूर्व प्रत्याशी के परिजनों को दिया। नवनिर्वाचित मुखिया राजू हजरा एवं सरपंच संध्या देवी नव निर्वाचित वार्ड सदस्य फरीदा प्रवीन निर्वाची पदाधिकारी से निर्वाचन प्रमाण पत्र हासिल किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस